Skip to main content

अलीगढ़ की जामा मस्जिद में लगा है सबसे ज्यादा सोना / 290 साल पहले बनी है यह जामा मस्जिद

#अलीगढ़_की_जामा_मस्जिद_
टीवी सीरियल "कौन बनेगा करोड़पति" के एक सवाल में अमिताभ बच्चन ने पूछा था :-  "भारत के किस धार्मिक स्थल में सबसे ज़्यादा सोने का इस्तेमाल किया गया है?"


Options थे:-


(1) तिरूपती मंदिर।


(2)स्वर्ण मंदिर।


(3)अलीगढ़ की जामा मास्जिद। 


(4)काशी विश्वनाथ मंदिर 


अलीगढ़ की जामा मस्जिद भारत ही नहीं बल्कि एशिया की सबसे ज्यादा सोना लगी मस्जिद हैl 


अलीगढ़ के ऊपरकोट इलाके में मौजूद जामा मस्जिद ऐसी है, जिसकी तामीर में देश में सबसे ज़्यादा सोना लगा है। स्वर्ण मंदिर से भी ज्यादा।


 उत्तर प्रदेश के शहर अलीगढ की इस जामा मास्जिद की तामीर "मुग़ल बादशाह मुहम्मद शाह" सन् (1719-1728) के शासनकाल में कोल (अलीगढ ) के गवर्नर साबित खान जंग बहादुर ने सन् 1724 में  करवाई थी। 


इस को बनने में चार साल लगे और सन् 1728 में मस्जिद बनकर तैयार हो पाई। ताजमहल बनाने वाले खास इंजीनियरों मे से एक ईरान के "अबू ईसा अफांदी" के पोते ने मस्जिद को तामीर कराया है।


ताजमहल और इस मस्जिद की कारीगरी बहुत कुछ मिलती झूलती  है।
शहर के ऊपरकोट इलाके में 17 गुंबदों वाली यह मस्जिद है यहां एकसाथ 5000 लोग नमाज़ पढ़ सकते हैं। यहां औरतों के लिए नमाज़ पढ़ने का अलग से इंतजाम है। इसे शहदरी (तीन दरी) भी कहते हैं।


देश की शायद यह पहली मस्जिद होगी, जहां सन् 1857 की क्रान्ती के शहीदों की 73 कब्रें भी हैं। इसे गंज-ए-शहीदान (शहीदों की बस्ती) भी कहते हैं तीन सदी पुरानी इस मस्जिद में कई पीढ़ियां नमाज़ अदा कर चुकी हैं। 


290 साल पहले बनी इस जामा मस्जिद में आठवीं पीढ़ी नमाज़ अदा कर रही है। मस्जिद में कुल 17 गुंबद हैं। करीब आठ से दस फुट लम्बी  तीन मीनारें मुख्य गुंबद पर लगी हुई हैं। तीनों गुंबद के बराबर में बने एक-एक गुंबद पर छोटी छोटी तीन मीनारें बनी हुई हैं। 


मस्जिद के गेट और चारों कोनों पर भी छोटी-छोटी मीनारें हैं। सभी खालिस सोने की बनी हैं। याद रहे कि ताजमहल और हमायूँ मकबरे के  मुख्य गुम्बद की मीनारें हो य़ा स्वर्ण मंदिर, इन सब पर सोने की परत चढाई गयीं हैं, जबकि इस मास्जिद के गुम्बदों की मीनारों को ठोस सोने से बनाया गया है एक अंदाजे के मुताबिक गुंबदों में ही 6 क्विंटल सोना लगा है। 


मस्जिद बलाई किले के शिखर पर बनी हुई है और यह जगह शहर का सबसे ऊपरी इलाका है इसी वजह से, इसे शहर के सभी जगहों से देखा जा सकता है।


 मस्जिद के भीतर छह  मकाम हैं जहां लोग नमाज़ अदा कर सकते हैं। मस्जिद का जीर्णोद्धार कई दौर से गुज़रा तथा यह कई वास्तु प्रभावों को दर्शाता है।सफेद गुंबद वाली संरचना तथा खूबसूरती से बने मिनारे मुस्लिम कला और संस्कृति की खास विशेषताएं हैं।
ऍम तनवीर


Popular posts from this blog

थाना अमरिया पुलिस द्वारा 04 अभियुक्तों को 68 किलोग्राम डोडा पोस्ता व डोडा चूरा सहित किया गिरफ्तार

 पीलीभीत के थाना अमरिया में आज दिनांक 05.09.2022 को थाना अमरिया जनपद पीलीभीत पुलिस द्वारा पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार प्रभु जनपद पीलीभीत के निर्देशन में व  अपर पुलिस अधीक्षक महोदय जनपद पीलीभीत व क्षेत्राधिकारी सदर महोदय जनपद पीलीभीत के कुशल नेतृत्व में अपराधियों के विरुद्ध जनपद में मादक पदार्थ व जहरीली शराब की तस्करी व रोकथाम हेतु चलाये जा रहे अभियान के तहत  थाना अमरिया पुलिस द्वारा 02 अभियुक्तगणों 1.महेश कुमार गुप्ता पुत्र ओमप्रकाश निवासी कस्बा व थाना अमरिया जनपद पीलीभीत व  2.रवि गुप्ता पुत्र महेश गुप्ता निवासी कस्बा व थाना अमरिया जनपद पीलीभीत को उनके घर के पास से गिरफ्तार किया गया तथा इनके कब्जे से मादक पदार्थ 31 किलोग्राम ( डोडा पोस्ता व डोडा चूरा ) बरामद हुआ गिरफ्तार किए गये अभियुक्तगणों से गहनता से पूछताछ के दौरान उन्होनों बरामद मादक पदार्थों को  अभियुक्त प्रमोद गुप्ता पुत्र मटरु लाल निवासी ग्राम देवचरा थाना भमौरा जनपद बरेली व अभियुक्त विनोद कुमार गुप्ता पुत्र मटरु लाल निवासी ग्राम देवचरा थाना भमौरा जनपद बरेली से खरीद कर लाना बताया इस पूछताछ के दौरान प्रकाश में आये अभियुक्त प्रमोद

*बहुजन मुक्ति पार्टी की राष्ट्रीय स्तर जनरल बॉडी बैठक मे बड़े स्तर पर फेरबदल प्रवेंद्र प्रताप राष्ट्रीय महासचिव आदि को 6 साल के लिए निष्कासित*

*(31 प्रदेश स्तरीय कमेटी भंग नये सिरे से 3 महिने मे होगा गठन)* नई दिल्ली:-बहुजन मुक्ति पार्टी राष्ट्रीय जनरल बॉडी की मीटिंग गड़वाल भवन पंचकुइया रोड़ नई दिल्ली में संपन्न हुई।  बहुजन मुक्ति पार्टी मीटिंग की अध्यक्षता  मा०वी०एल० मातंग साहब राष्ट्रीय अध्यक्ष बहुजन मुक्ति  पार्टी ने की और संचालन राष्ट्रीय महासचिव माननीय बालासाहेब पाटिल ने किया।  बहुजन मुक्ति पार्टी की जनरल ढांचे की बुलाई मीटिंग में पुरानी बॉडी में फेर बदल किया गया। मा वी एल मातंग ने स्वयं एलान किया की खुद स्वेच्छा से बहुजन मुक्ति पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे रहे हैं राजनीती से सन्यास और राष्ट्रीय स्तर पर बामसेफ प्रचारक का कार्य करते रहेंगे। राष्ट्रीय स्तर की जर्नल बॉडी की बैठक मे सर्व सम्मत्ती से राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद पर पूर्व कार्यकारी अध्यक्ष जे एस कश्यप को राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद पर चुना गया। राष्ट्रीय उपाध्यक्ष के लिए मा वैकटेस लांमबाड़ा, मा हिरजीभाई सम्राट, डी राम देसाई, राष्ट्रीय महासचिव के पद पर मा बालासाहब मिसाल पाटिल, मा डॉ एस अकमल, माननीय एडवोकेट आयुष्मति सुमिता पाटिल, माननीय एडवोकेट नरेश कुमार,

*पिछड़ों अति पिछड़ों शूद्रों अछूतों तथाकथित जाति धर्म से आजादी की चाबी बाबा साहब का भारतीय संविधान-गादरे*

(हिन्दू-मुस्लिम के षड्यंत्रकारियो के जाल और कैद खाने से sc obc st minorities जंग लडो बेईमानो से मूल निवासी हो बाबा फुले और  भीमराव अम्बेडकर के सपनो को साकार करें--गादरे)* मेरठ:--बाबा ज्योति बा फुले और बाबा भीमराव अंबेडकर भारत रत्न ही नहीं विश्व रतन की जयंती पर हमें शपथ लेनी होगी की हिन्दू-मुस्लिम के षड्यंत्रकारियो के जाल और कैद खाने से sc obc st minorities जंग लडो बेईमानो से मूल निवासी हो बाबा फुले और भीमराव अम्बेडकर के सपनो को साकार करें। बहुजन मुक्ति पार्टी के आर डी गादरे ने महात्मा ज्योतिबा फुले और भारत रत्न डॉक्टर बाबा भीमराव अंबेडकर की जन्म जयंती के अवसर पर समस्त मूल निवासियों को हार्दिक शुभकामनाएं देते हुए आह्वान किया कि आज हम कुछ विदेशी षड्यंत्र कार्यों यहूदियों पूंजीपतियों अवसर वादियों फासीवादी लोगों के चंगुल से निकलने के लिए एक आजादी की लडाई लरनी होगी। आज भी आजाद होते हुए फंसे हुए हैं। डॉक्टर बाबा भीमराव अंबेडकर के लोकतंत्र और भारतीय संविधान को अपने हाथों से दुश्मन के चंगुल में परिस्थितियों को समझें। sc obc st MINORITIES खुद सर्वनाश करने पर लगे हुए हैं और आने वाली नस्लों को गु