Skip to main content

Posts

Showing posts from September, 2019

पश्चिमी उत्तर प्रदेश संयुक्त व्यापार मंडल की कार्यकारिणी का विस्तार किया गया

 सरधना (मेरठ) पश्चिमी उत्तर प्रदेश संयुक्त व्यापार मंडल की एक मीटिंग रामलीला मैदान में आयोजित की गई ।  जिसमें सरधना नगर की कार्यकारिणी का विस्तार किया गया। जिसमें नवनियुक्त सदस्यों एवं पदाधिकारियों को नियुक्ति पत्र दिए गए और फूल मालाओं से उनका स्वागत किया गया ।संगठन के अध्यक्ष वीरेंद्र चौधरी ने बताया कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश व्यापार मंडल व्यापारियों के हितों की लड़ाई लड़ रहा है । जो व्यापारियों के हितों में हमेशा खड़ा रहता है। नगर में सफाई का मुद्दा हो, या  टूटी हुई सड़कों का मुद्दा हो, पश्चिमी उत्तर प्रदेश संयुक्त व्यापार मंडल हमेशा इन मुद्दों को उठाता रहता है तथा अधिकारियों को समस्याओं से अवगत कराता रहता है । संगठन का विस्तार करते हुए मनमोहन त्यागी ,राजीव जैन, ऋषभ जैन ,सोनू त्यागी ,सचिन चौधरी  अमन गुप्ता, अनिल प्रजापति ,विकास कंसल ,गौरव बाल्मीकि ,हारुन अंसारी ,को सदस्य बनाया गया । मीटिंग में महामंत्री ललित गुप्ता, कोषाध्यक्ष साजिद मलिक ,जिला सचिव दीपक शर्मा, इरफान जावेद सिद्दीकी ,दीपक जैन ,शैलेंद्र गुप्ता ,अनिल गुप्ता, सुभाष गुप्ता , आदि मौजूद रहे

व्यापार मंडल सरधना की नगर कार्यकारिणी का किया गया विस्तार

 सरधना (मेरठ) व्यापार मंडल सरधना की नगर कार्यकारिणी का विस्तार किया गया । जिसमें नितिन चांदना एडवोकेट को कानूनी सलाहकार, अमित चौधरी को वरिष्ठ उपाध्यक्ष, राजीव चौधरी व मोनू कश्यप को उपाध्यक्ष नियुक्त किया गया । इस अवसर पर अध्यक्ष पंकज जैन ने कहा कि व्यापार मंडल हमेशा ही व्यापारियों के हित में रहा है। उन्होंने मांग की कि बाजारों में सीसीटीवी कैमरा लगाया जाए और नगर में आधार कार्ड की कम से कम पांच मशीनें लगाई जाए ताकि लोगों की दिक्कतें दूर हो सके। अशोक की लाट वाली सड़क को बनवाने की भी मांग की गई ।बैठक का संचालन महामंत्री नीरज जैन ने किया । इस कार्यक्रम में मुख्य रूप से वरिष्ठ उपाध्यक्ष अजय गौतम ,योगेश जैन, समीर काजी, सभासद पंकज टाली,सभासद पलटू ठाकुर, दिनेश सभासद, सुनील जैन, अरविंद जैन ,अब्दुल हमीद, भूपसिंह ,आबाद खां, प्रदीप बंसल ,सुरेश जैन ,प्रवीण जैन ,अजय जैन, मनोज शर्मा ,मनोज प्रजापति ,सोनू त्यागी कपिल मित्तल ,रजत त्यागी ,राकेश वर्मा, मनोज वर्मा आदि व्यापारी उपस्थित रहे।

सीआरपीएफ के कमांडो को भी नहीं बख्शा मेरठ पुलिस ने ,तीन मुकदमे लगा कर जेल भेजा। गृह मंत्रालय को शिकायत के बाद मेरठ पुलिस पर गिर सकती है गाज

    मेरठ। शहर पुलिस के वैसे तो काफी चर्चे रहते हैं  कब किसके साथ क्या गुल खिल जाए यह कोई नहीं जानता।  गुड वर्क और बैड वर्क मेरठ पुलिस की दोनों ही पहचान है।पिछले दिनों  दो मुस्लिम युवकों को  तथाकथित मुठभेड़ में मारने का मामला काफी तूल पकड़ा था  जिसमें से  एक के पिता ने  राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग में शिकायत दर्ज कराई थी  और  कोर्ट में मुकदमा लड़ने की बात भी कही थी ।जिस नौजवान को मारा गया था वह  अपने छोटे बच्चों को स्कूल छोड़ कर आ रहा था उसके बाद से गायब था। मेरठ पुलिस की  कार्यप्रणाली का  एक ऐसा मामला  सामने आया है  जिसमें बारामूला में तैनात सीआरपीएफ कमांडो सतेंद्र चौधरी को तीन मुकदमे लगाकर जेल भेजने का मामला सीआरपीएफ मुख्यालय और गृह मंत्रालय तक पहुंच गया है। मेडिकल थाना क्षेत्र के शास्त्रीनगर के-ब्लॉक निवासी सतेंद्र चौधरी सीआरपीएफ में हेड कांस्टेबल हैं। वर्तमान में वह जम्मू कश्मीर के बारामूला में तैनात हैं। फिलहाल 15 दिन की छुट्टी पर घर आए हुए हैं। बुधवार रात बाइक तेज चलाने को लेकर डिलीवरी ब्वॉय विवेक त्रिपाठी से उनका विवाद हुआ। इसके बाद सीआरपीएफ कमांडो को लूट,

संयुक्त व्यापार मंडल सरधना की नई कार्यकारिणी का शपथ ग्रहण समारोह आयोजित

 सरधना (मेरठ) संयुक्त व्यापार मंडल( रजि. )की नई कार्यकारिणी का शपथ ग्रहण समारोह शहीद गुजरान गेट सरधना पर आयोजित किया गया। जिसमें कोर कमेटी अध्यक्ष पीयूष त्यागी ,मंगू प्रधान अध्यक्ष विधानसभा सरधना, नगर संयोजक संजीव गुप्ता एवं सदस्यों को शपथ दिलाई गई। इस मौके पर मुख्य अतिथि पंकज कुमार सिंह क्षेत्राधिकारी पुलिस ,उपजिलाधिकारी अमित कुमार भारतीय और क्षेत्रीय विधायक संगीत सोम,भारतीय जनता पार्टी के जिला अध्यक्ष रविंद्र भड़ाना , सूर्य देव त्यागी समाजसेवी, जीशान कुरैशी ,शरद त्यागी ,रामबोल जैन ,रईस अहमद हकीम जी ,शहजाद सैफी ,जयपाल विश्वकर्मा ,मुकेश जैन भट्टे वाले ,हिमांशु गोयल ,सुधांशु गोयल ,चंद किरण आदि मौजूद रहे । इस अवसर पर सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन भी किया गया।

दो दलित बहन भाई को राक्षस बताकर शौच करते समय पीट-पीटकर मार डाला गया

  मध्यप्रदेश।वक्त बदला -जमाना बदला  और बदल गए  लोगों के अरमान,  मगर नहीं बदले दबंगों के फरमान ।आज भी  दलित समुदाय के लोगों पर जुल्म और अत्याचार का सिलसिला बंद नहीं हुआ है ।  पिछले  कितनी सदियों से यह जुल्म और अत्याचार का सिलसिला चल रहा है। आज भी गांव में एक कहावत है। जिसकी लाठी उसकी भैंस। और यह कहावत ऐसे ही नहीं है । लोकतंत्र,  शासन - सत्ता में भागीदारी  और बहुत सारे धनाढ्य लोग  दलित समुदाय  के है, आई ए एस , आई आर एस, पुलिस आदि मे  कर्मचारी हैं लेकिन दलितों पर अत्याचार रुकने का नाम नहीं ले रहा है। आखिर क्या वजह है यह सोचने का मकाम है।  क्योंकि एक सोच जो इस उत्पीड़न के पीछे काम कर रही है वह सोच जब तक खत्म नहीं होगी उत्पीड़न खत्म नहीं होगा। अभी पिछले दिनों आपने दिल्ली में देखा कि दलितों के मंदिर को किस तरह से तोड़ दिया गया।मध्य प्रदेश  के शिवपुरी में खुले में शौच करने पर दो मासूम दलित बच्चों की हत्या करने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। जिले से सिरसौद इलाके में भावखेड़ी गांव में पंचायत भवन के सामने खुले में शौच करने पर दलित सगे भाई-बहन को लाठियों से पीट-पीटकर मार डाला गया। मारे गए द

जुए में हार गया पत्नी ₹2लाख ना देने के बदले में पत्नी को सौंपना चाहता था दोस्तों को

 उत्तर प्रदेश। नोएडा के सेक्टर 31 के निठारी गांव में एक युवक ने जुऐ मैं अपनी पत्नी को दांव पर लगा दिया और जुआ हारने के बाद अपनी पत्नी को उन जुआरियों से संबंध बनाने के लिए मजबूर करने लगा। जिसे पत्नी ने इंकार कर दिया और यह मामला नोएडा के थाना सेक्टर 20 में आया है पुलिस ने आरोपी पति को गिरफ्तार कर लिया है सुना तो था कि लोग जुए में पत्नी को हार जाते हैं और नोएडा में यह हो गया। एक ऑटो चालक मंदी के इस दौर में जुआ खेलकर अपने हालात को ठीक करने की कोशिश कर रहा था, लेकिन बड़े कह कर के गए हैं के जुए से कभी किसी के हालात ठीक नहीं होते। जुआ विनाश का दूसरा नाम है। विनाश काले विपरीत बुद्धि वाली कहावत को चरितार्थ करते हुए गोरखपुर के मूल निवासी के साथ यह घटना नोएडा के निठारी गांव में हुई है। पुलिस ने पूछताछ में आरोपी मोदी ने बताया कि मैं जुए में पत्नी हार गया था । जुआरियों के ₹200000 का इंतजाम  नहीं कर पाया। इस पर उसके जुआरी दोस्तों ने पत्नी से शारीरिक संबंध बनाने के लिए पत्नी को राजी करने के लिए कहा उसने पत्नी को दोस्तों से शारीरिक संबंध बनाने के लिए दबाव बनाया। पत्नी को मारा पीटा लेकिन पत्नी टस से मस

सरधना में श्री रामलीला कमेटी द्वारा रामलीला मंचन का उद्घाटन

  सरधना (मेरठ) श्री रामलीला कमेटी की ओर से श्री राम लीला का मंचन का उद्घाटन क्षेत्रीय अधिकारी भारतीय जनता पार्टी पश्चिमी  अश्विनी त्यागी के द्वारा किया गया।   इस मौके पर मुख्य अतिथि मुख्य विकास अधिकारी  (CDO) ईशा दूहन रही । कार्यक्रम का संचालन मास्टर दीपक शर्मा द्वारा किया गया । इस मौके पर हिंदू जागरण मंच के सूर्य देव त्यागी, सुशील कुमार के के पब्लिक स्कूल के प्रबंधक नीरज गुप्ता, पंकज पव्वा, ठाकुर प्रतीश कुमार सिंह,   राजीव जैन, अविरल जैन आदि उपस्थित रहे।

अमिता वरुण बनी सरधना नगर पालिका परिषद की अधिशासी अधिकारी

 सरधना (मेरठ)नगर पालिका परिषद सरधना की नवनियुक्त अधिशासी अधिकारी अमिता वरुण का स्वागत सफाई कर्मचारी यूनियन के द्वारा  सम्मान पूर्वक किया गया। उत्तर प्रदेश सफाई कर्मचारी संघ के कार्यक्रम में फूल मालाओं से अधिशासी अधिकारी का सम्मान किया गया। इस अवसर पर बड़े बाबू की उपस्थिति में सफाई कर्मचारियों की समस्याओं को समाप्त करने का आश्वासन दिया गया। इस कार्यक्रम में   गौतम सिंह टोंक महामंत्री विक्की पार्चा,उपाधयक्ष मोहन वीर, प्रेम बाबू,  रवि टांक,नरेंदर,विपिन शर्मा,अशोक कुमार, कमल चढढा,शुऐब काजी, अमित पारचा आदि उपस्थित रहे। 

45 वर्षों में सबसे ज्यादा आर्थिक मंदी का भारतीय युवा कांग्रेस ने किया विरोध प्रदर्शन

भारतीय युवा कांग्रेस 45 वर्षों में उच्चतम बेरोजगारी और देश की आर्थिक मंदी के खिलाफ विरोध करती है। नई दिल्ली, 20 सितंबर 2019: आज मोदी सरकार के कामकाज के कारण भारतीय युवा कांग्रेस ने भारतीय अर्थव्यवस्था के महत्वपूर्ण स्वास्थ्य के खिलाफ वित्त मंत्री निर्मला सीतारमन के आवास पर विरोध प्रदर्शन किया। वर्तमान सरकार के पास देश की आर्थिक स्थिति के उत्थान के लिए कोई ठोस योजना / खाका नहीं है। 2014 के बाद, मोदी की कैबिनेट ने नीति निर्माण और कार्यान्वयन में विनाशकारी फैसले लिए हैं जिसने देश की अर्थव्यवस्था को काल कोठरी में धकेल दिया है। शुरू करने के लिए, रातोंरात डिमोनेटाइजेशन के फैसले और फिर जीएसटी के खराब कार्यान्वयन के साथ, सरकार ने जीडीपी विकास दर को 5% तक कम कर दिया है और जब से जीडीपी के इस गिरावट के बाद से, हर दूसरे दिन मोदी सरकार के मंत्री अतार्किक और विचित्र बयान देते हैं ओला, उबेर और आइंस्टीन की तरह गुरुत्वाकर्षण की खोज की; जो भारत के युवाओं का मनोबल गिरा रहा है। पिछले 45 वर्षों में बेरोजगारी सबसे अधिक है। देश के युवा प्रमुख शैक्षिक संस्थानों से डिग्री प्राप्त करने के बावजूद नौकरि

उत्तर प्रदेश लेखपाल संघ ने वेतन, भत्ते आदि को लेकर दिया धरना

सरधना मेरठ उत्तर प्रदेश लेखपाल संघ ने वेतन, भत्ते, प्रमोशन एसीपी, पेंशन ,पदनाम विसंगति को लेकर राज्यपाल के नाम एक ज्ञापन उप जिलाधिकारी सरधना अमित कुमार भारतीय को दिया गया। जिसमें 29 सितंबर को लखनऊ में देश स्तरीय बैठक कर रणनीति बनाने की बात कही गई है इस अवसर पर मनवीर सिंह सुरेश शर्मा आलोक नारायण राकेश कुमार सिंह ललित कुमार पृथ्वी सिंह हरिदास मनवीर राय राकेश कुमार दिनेश कुमार उमेश गौतम मनजीत शर्मा सुनील कुमार महिपाल सिंह अशोक कुमार प्रवीन जैन आलोक नारायण सुजाता रणवीर सिंह अनुज कुमार नरेश कुमार दिनेश मुनेंद्र कुमार राज कुमार आदि उपस्थित रहे

निविदा संविदा कर्मचारी सेवा समिति द्वारा मोदीपुरम टोल प्लाजा पर दिया गया धरना

सरधना (मेरठ) पश्चिम विद्युत वितरण निगम लिमिटेड के द्वारा नोएडा की ब्रॉडकास्ट कंसलटेंट इंडिया प्राइवेट लिमिटेड कंपनी को टेंडर दिया गया है।जिससे संविदा पर काम करने वाले कर्मचारियों के लिए जो मुसीबत पैदा हुई है उससे संविदा कर्मचारी सकते में हैं।और इसी कंपनी की नई शर्तों के कारण मेरठ के मोदीपुरम में टोल प्लाजा पर संविदा कर्मचारियों ने धरना दिया और मांग रखी कि यदि उनकी मांग न मानी गई तो वह 26 सितंबर से पूर्ण रुप से कार्य का बहिष्कार कर देंगे। फिलहाल उन्होंने 16 सितंबर को 1 दिन का धरना दिया। 17 सितंबर को काली पट्टी बांधकर कार्य किया। और मांग की कि उनकी मांगे जल्दी मान दी जाए।नोएडा की कंपनी के द्वारा जो शर्तें रखी गई है उनमें यह शर्त भी है कि किसी भी कर्मचारी की दुर्घटना में घायल होने या मर जाने पर कंपनी की कोई जिम्मेदारी नहीं होगी।कंपनी ने  18 से 40 साल तक के कर्मचारियों को ही रखने की बात कही है। जबकि संविदा पर 20 साल से जो लोग काम कर रहे हैं उनके परिवार का क्या होगा?  इसी बात को लेकर सेवा समिति ने धरना दिया था और भी इस तरह की मांगे हैं जिस जिस में कंपनी ने बहुत कम वेतन रखा है। जबकि सेवा सम

सरधना के विधायक संगीत सोम द्वारा अस्पताल में मरीजों को बांटे गए फल

 सरधना (मेरठ) विधायक संगीत सोम द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिवस को गरीबों की सेवा दिवस के रूप में मनाने का निर्णय लेते हुए सरधना के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में मरीजों को फल वितरित किए ।सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के इंचार्ज को व्यवस्था ठीक करने का निर्देश देते हुए स्वयं विधायक महोदय ने झाड़ू लेकर अस्पताल के जाले झाड़े और सफाई अभियान चलाया। इस दौरान उनके साथ कार्यकर्ता भी मौजूद रहे। मरीजों से बातचीत करते हुए विधायक महोदय ने सभी को संपूर्ण सुविधाएं देने और अच्छा इलाज करने की बात कही( रिपोर्ट : राकेश गोस्वामी)

सरधना नगर पालिका परिषद द्वारा स्वच्छता ही सेवा हम सब का एक ही नारा स्वच्छ बनेगा देश हमारा कार्यक्रम का आयोजन

सरधना (मेरठ) नगर पालिका परिषद द्वारा स्वच्छता ही सेवा, हम सब का एक ही नारा - स्वच्छ बनेगा देश हमारा। कार्यक्रम के अंतर्गत 15 सितंबर 2019 से 2 अक्टूबर 2019 तक नगर में स्वच्छता मिशन के अंतर्गत कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं ।नगर के वार्ड नंबर 1 में प्रोत्साहन समिति द्वारा स्वच्छता भारत मिशन के अंतर्गत सभासद डिंपल और उनके पति दिनेश कुमार के द्वारा प्लास्टिक बैन, वृक्षारोपण ,गीला और सूखा कूड़ा वर्गीकरण, साफ- सफाई के विषय में शपथ दिलाई गई। इस अवसर पर समिति के सदस्य सफाई पर्यवेक्षक अशोक कुमार सफाई नायक मोहन कुमार, अमित पारचा, कमल कुमार ,  शुऐब काजी आदि मौजूद रहे।

उपचुनाव में सभी 11 सीटें बहुजन समाज पार्टी जीतेगी : शिंदे

 सरधना (मेरठ) उत्तर के उपचुनाव में सभी 11सीटों को बहुजन समाज पार्टी जीतेगी।  यह कहना है मुजफ्फरनगर लोकसभा के पूर्व प्रभारी और मुस्लिम भाईचारा कमेटी के बहुजन समाज पार्टी के नेता योगेंद्र सिंह शिंदे का उन्होंने कहा कि आज उत्तर प्रदेश में बेरोजगारों पर जिस तरह से लाठी चार्ज किए जा रहे हैं उससे नौजवानों में गुस्सा है। आवारा पशु किसानों की फसल खा रहे हैं ,जिससे किसान दुखी हैं। बिजली उत्तर प्रदेश में सबसे महंगी थी आज 12/ प्रतिशत बढ़ जाने के बाद उत्तर प्रदेश के उपभोक्ताओं पर एक और बोझ उत्तर प्रदेश की सरकार ने डाल दिया है ।उत्तर प्रदेश के उपभोक्ता त्रसत हैं ।श्री शिंदे ने कहा कि आज उत्तर प्रदेश की जनता बहन कुमारी मायावती के शासन को याद कर रही है। उत्तर प्रदेश में बहन कुमारी मायावती के शासनकाल में भर्ती की गई ,बेरोजगारों को रोजगार दिया गया ,छात्रों को छात्रवृत्ति और विधवाओं को पेंशन दी गई । आज सारे लोग तरसते हैं। उपचुनाव का रिजल्ट योगी सरकार को साफ बता देगा। योगी सरकार जनहित नहीं बल्कि जनहित विरोधी सरकार है । सरकार में भ्रष्टाचार आम है ,सरकार लव जिहाद और सांप्रदायिक मुद्दों से राजनीति कर रही ह

41 दिन बाद भी कश्मीर में नहीं सुधरे हैं हालात ,जनजीवन असामान्य

श्रीनगर। अनुच्छेद 370 को खत्म करने के बाद कश्मीर घाटी में शनिवार को लगातार 41वें दिन सामान्य जनजीवन प्रभावित रहा। अधिकारियों ने बताया कि इस दौरान ज्यादातर दुकानें और स्कूल बंद रहे और यातायात भी प्रभावित रहा। अधिकारियों ने बताया कि श हर के हजरतबल क्षेत्र में शुक्रवार को लगाए गए प्रतिबंधों को हटा दिया गया है और घाटी के ज्यादातर इलाकों में किसी तरह की रोक नहीं है। उन्होंने हालांकि कहा कि कानून और व्यवस्था को बनाए रखने के लिए संवेदनशील इलाकों में सुरक्षा बल लगातार तैनात हैकेंद्र द्वारा संविधान की धारा 370 के अधिकतर प्रावधानों को खत्म किए जाने और राज्य को दो संघ शासित राज्यों में बांटने की घोषणा के बाद 5 अगस्त को पूरे कश्मीर में प्रतिबंध लगाए। समय के साथ हालात में सुधार के साथ ही घाटी के कई हिस्सों में धीमे-धीमे प्रतिबंध हटाए गए। प्रशासन घाटी के संवेदनशील क्षेत्रों में प्रत्येक शुक्रवार को प्रतिबंध लगाता है, ताकि कुछ स्वार्थी तत्व मस्जिदों और अन्य धार्मिक स्थलों पर बड़ी संख्या में जमा होने वाले लोगों का गलत फायदा न उठा सकें। नौहट्टा स्थित जामा मस्जिद और दरगाह शरीफ सहित प्रमुख मस्जिदों और धा

हरियाणा के मुख्य सचिव और पुलिस महानिदेशक को राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग का नोटिस

नई दिल्ली, 4 सितंबर, 2019 राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने मीडिया रिपोर्टों के आधार पर एक आत्म संज्ञान लिया है कि हरियाणा के यमुनानगर के पुलिस स्टेशन जठलाना में एक महिला ने अपने बलात्कार के मामले में पुलिस की निष्क्रियता का आरोप लगाया। आयोग ने हरियाणा के मुख्य सचिव और पुलिस महानिदेशक को छह सप्ताह के भीतर मामले में विस्तृत रिपोर्ट के लिए नोटिस जारी किया है। आयोग ने डीजीपी, हरियाणा को भी निर्देश दिया है कि वे अपराधी पुलिस कर्मियों के खिलाफ की गई कार्रवाई का संवाद करें। आयोग ने हरियाणा राज्य के मुख्य सचिव को मृतक के परिवार की भेद्यता और संरक्षण और वित्तीय मदद अगर पहले से ही नहीं किया है, तो पीड़ित परिवार को राज्य द्वारा प्रदान करने का निर्देश दिया। इस बारे में भी निर्देश जारी किया गया है कि इस तरह के संवेदनशील मामलों को अधिक मानवीय स्पर्श से निपटने के लिए विभिन्न स्तरों पर पुलिस कर्मियों को प्रशिक्षण प्रदान किया गया है या नहीं। नोटिस जारी करते हुए, आयोग ने देखा है कि समाचार रिपोर्टों की सामग्री, अगर सही है, तो पीड़ित के मानवाधिकारों के उल्लंघन का गंभीर मुद्दा उठाया और पुलिस कर्मियों की ओर से

बंदरों की लड़ाई से गिरी स्कूल की छत

मेरठ जिला के सरधना तहसील के दबथुवा गांव में शिशु सदन संस्था द्वारा संचालित स्कूल की ऊपरी मंजिल की छत गिरने से कई बच्चे घायल हो गए ।बाकी बच्चों ने क्लास रूम से निकल कर अपनी जान बचाई बताया जाता है कि यह स्कूल आर एस एस द्वारा संचालित संस्था शिशु सदन द्वारा चलाया जा रहा था जिसके प्राय आचार्य श्रीकांत रावत हैं यह स्कूल किराए के भवन में संचालित हो रहा था भवन स्वामी और संस्था के विवाद के कारण स्कूल की मरम्मत नहीं की गई थी स्कूल की कर्मचारी के अनुसार कई बार सूचना दी गई कि भवन जर्जर अवस्था में है लेकिन कोई ध्यान नहीं दिया गया और यह हादसा हो गया शिक्षा विभाग ने अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन सही तरीके से नहीं किया और इस तरह की जर्जर अवस्था में चल रही स्कूल का कोई सुध नहीं ली यह तो अच्छा हुआ बच्चों की जान बच गई सरधना क्षेत्र के उप जिलाधिकारी अमित कुमार भारती द्वारा इस मामले में एक समिति का गठन कर दिया गया है और जांच के आदेश जारी किए गए हैं

Modi100: भाजपा के घोषणापत्र पर अब तक कितना हुआ अमल

केंद्र की मोदी सरकार के 100 दिन के कार्यों का मूल्यांकन उनके संकल्प पत्र में किए गए वादे से करते समय महाभारत में वर्णित यह श्लोक और इसका भावार्थ स्वाभाविक रूप से जेहन में आता है। वादे हैं वादों का क्या? चुनाव में वादों के पिटारे के रूप में घोषणापत्र जारी किये जाते हैं जिसे संकल्प-पत्र भी कहते हैं। नेता चाहे जिस पार्टी के हों वे चुनाव से पहले बहुत सारे वादे करते हैं, और ज़्यादातर वादे पूरे नहीं होते। दोबारा पीएम बनने का संकल्प लेते हुए नरेंद्र मोदी ने कहा था कि 2022 में भारत की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होंगे इसलिए पार्टी संकल्प पत्र में दर्ज 75 वादे पूरा करने की दिशा में काम करेगी। मोदी ने कहा था कि यह मैनिफ़ेस्टो वैसे तो 2024 तक के लिए है लेकिन अपने कार्यकाल के बीच में 2022 में हम हिसाब दे सकते हैं। महाभारत के शांतिपर्व में एक श्लोक है- स्वं प्रियं तु परित्यज्य यद् यल्लोकहितं भवेत अर्थात् राजा को अपने प्रिय लगने वाले कार्य की बजाय वही कार्य करना चाहिए जिसमें सबका हित हो। केंद्र की मोदी सरकार के 100 दिन के कार्यों का मूल्यांकन उनके संकल्प पत्र में किए गए वादे से करते समय महाभारत में

SC ने केजरीवाल सरकार से पूछा सवाल, महिलाओं के लिए मुफ्त मेट्रो सेवा क्यों ?

शीर्ष अदालत ने कहा कि दिल्ली सरकार की यह जिम्मेदारी है कि वह दिल्ली मेट्रो रेल निगम की वित्तीय स्थिति ठीक रखे और ऐसा कोई कदम नहीं उठाये जिसकी वजह से उसे घाटा उठाना पड़े। नयी दिल्ली। उच्चतम न्यायालय ने शुक्रवार को निर्देश दिया कि दिल्ली मेट्रो के चौथे चरण की 103.94 किलोमीटर लंबी परियोजना के संचालन घाटे की भरपाई दिल्ली सरकार करेगी क्योंकि परिवहन का यह साधन राष्ट्रीय राजधानी में आवागमन के लिये है। शीर्ष अदालत ने कहा कि दिल्ली सरकार की यह जिम्मेदारी है कि वह दिल्ली मेट्रो रेल निगम की वित्तीय स्थिति ठीक रखे और ऐसा कोई कदम नहीं उठाये जिसकी वजह से उसे घाटा उठाना पड़े। न्यायमूर्ति अरूण मिश्रा और न्यायमूर्ति दीपक गुप्ता की पीठ ने निर्देश दिया कि इस परियोजना के लिये भूमि की कीमत केन्द्र और दिल्ली सरकार को 50:50 के अनुपात में वहन करनी होगी। पीठ ने संबंधित प्राधिकारियों को यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया कि मेट्रो परियोजना के चौथे चरण में किसी प्रकार का विलंब नहीं हो और भूमि की कुल कीमत की 2,247.19 करोड़ रूपए की राशि तत्काल जारी की जाये। पीठ ने केन्द्र और दिल्ली सरकार को यह भी निर्देश दिया