Skip to main content

महाराष्ट्र के हक का 40000 करोड कहां


महाराष्ट्र के हक का ४० हजार करोड़ कहां





अस्सी घंटों की असली चालीसा : भाजपा सांसद ने ही खोली फसवणूक सरकार की पोल्!
 सांसद के मुंह से निकला सच
 फंड बचाने के लिए ड्रामा
 बहुत पहले से तय था नाटक


जब मन में खोट हो तो एक न एक दिन सच मुंह पर आ ही जाता है। महाराष्ट्र के किसानों और व्यापारियों से लेकर आम जनता तक को त्रस्त करनेवाली तत्कालीन देवेंद्र `फसवणूक' सरकार की एक और पोल खुद भाजपा के ही सांसद ने खोल दी है। अपने बयान में भाजपा सांसद ने महाराष्ट्र के हक के ४० हजार करोड़ रुपए की असली `चालीसा' का रहस्योद्घाटन करते हुए बताया कि सिर्फ अस्सी घंटों के लिए आखिर फडणवीस मुख्यमंत्री क्यों बने थे? सांसद का दावा है कि केवल इसी ४० हजार करोड़ के लिए रातोंरात फडणवीस को मुख्यमंत्री बनाने की जद्दोजहद की गई वरना ये पैसा भावी सरकार को मिल जाता और केंद्र सरकार ऐसा नहीं चाहती थी।
भारतीय जनता पार्टी के सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री अनंत हेगड़े का दावा है कि महाराष्ट्र में भाजपा ने फडणवीस को ४० हजार करोड़ का फंड बचाने के लिए मुख्यमंत्री बनाकर ड्रामा किया। हेगड़े ने कहा है कि आप सभी जानते हैं कि महाराष्ट्र में हमारा आदमी (फडणवीस) ८० घंटे के लिए मुख्यमंत्री बना और उसके बाद इस्तीफा दे दिया। उन्होंने यह नाटक क्यों किया? क्या हमें नहीं पता था कि हमारे पास बहुमत नहीं था और फिर भी वह सीएम बन गए? यह वह सवाल है जो हर कोई पूछता है।' हेगड़े ने कहा, `सीएम के पास करीब ४० हजार करोड़ की केंद्र की राशि थी। अगर कांग्रेस, राष्ट्रवादी कांग्रेस और शिवसेना सत्ता में आती तो वे ४० हजार करोड़ का दुरुपयोग करते। यही कारण है कि केंद्र सरकार के इस पैसे को विकास के लिए इस्तेमाल में नहीं लाया जा सके, इसके लिए ड्रामा किया गया।' उन्होंने कहा, `बहुत पहले से भाजपा की यह योजना थी इसलिए यह तय किया गया कि एक नाटक होना चाहिए और इसी के तहत फडणवीस ने सीएम पद की शपथ ली। शपथ लेने के १५ घंटे के अंदर फडणवीस ने सभी ४० हजार करोड़ रुपयों को उस जगह पर पहुंचा दिया जहां से वो आए थे। इस तरह फडणवीस ने सारा पैसा वापस केंद्र सरकार को देकर बचा लिया। कांग्रेस प्रवक्ता सचिन सावंत ने कहा कि भाजपा सांसद ने खुद यह खुलासा किया है कि ८० घंटे की सरकार क्यों बनाई गई थी? यह गंभीर विषय है। इस बात की सच्चाई महाराष्ट्र की जनता के सामने आनी चाहिए कि आखिर देवेंद्र फडणवीस ने ऐसा क्यों किया? देश का कोई भी मुख्यमंत्री इस तरह की घटना को अंजाम नहीं दिया होगा, जो देवेंद्र फडणवीस ने दिया। इसका खुलासा फडणवीस को करना चाहिए। फडणवीस के खुलासा पर विश्वास करना भी मुश्किल है? मुंबई राकांपा अध्यक्ष व प्रवक्ता नवाब मलिक ने कहा कि महाराष्ट्र में ४० हजार करोड़ रुपए आने के बाद वापस भेजना संभव नहीं है, अगर ४० हजार करोड़ रुपए आकर वापस गया होगा तो महाराष्ट्र की जनता इसे सहन नहीं करेगी। यह केवल महाराष्ट्र ही नहीं देश के अन्य राज्यों पर भी अन्याय है। फडणवीस तो चले गए, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी इस मामले में इस्तीफा देना पड़ेगा, ऐसा मत नवाब मलिक ने व्यक्त किया। केंद्र को ४० हजार करोड़ रुपए की निधि वापस भेजनेवाले फडणवीस बहुमत न होते हुए मुख्यमंत्री थे, ऐसा दावा भाजपा सांसद हेगड़े ने किया है। हेगड़े के दावे पर प्रतिक्रिया देते हुए शिवसेना विधायक अब्दुल सत्तार ने कहा कि अगर फडणवीस ने केंद्र से मिली निधि वापस भेजी है तो यह क्लेशदायक है। इस मामले को नागपुर के शीतकालीन अधिवेशन में उठाएंगे। हालांकि विरोधी दल नेता देवेंद्र फडणवीस ने खुलासा किया है कि किसी भी प्रकार की निधि केंद्र को वापस नहीं भेजी है न ही ८० घंटे के मुख्यमंत्री के कार्यकाल में कोई भी महत्वपूर्ण निर्णय लिया है।



Popular posts from this blog

*बहुजन मुक्ति पार्टी की राष्ट्रीय स्तर जनरल बॉडी बैठक मे बड़े स्तर पर फेरबदल प्रवेंद्र प्रताप राष्ट्रीय महासचिव आदि को 6 साल के लिए निष्कासित*

*(31 प्रदेश स्तरीय कमेटी भंग नये सिरे से 3 महिने मे होगा गठन)* नई दिल्ली:-बहुजन मुक्ति पार्टी राष्ट्रीय जनरल बॉडी की मीटिंग गड़वाल भवन पंचकुइया रोड़ नई दिल्ली में संपन्न हुई।  बहुजन मुक्ति पार्टी मीटिंग की अध्यक्षता  मा०वी०एल० मातंग साहब राष्ट्रीय अध्यक्ष बहुजन मुक्ति  पार्टी ने की और संचालन राष्ट्रीय महासचिव माननीय बालासाहेब पाटिल ने किया।  बहुजन मुक्ति पार्टी की जनरल ढांचे की बुलाई मीटिंग में पुरानी बॉडी में फेर बदल किया गया। मा वी एल मातंग ने स्वयं एलान किया की खुद स्वेच्छा से बहुजन मुक्ति पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे रहे हैं राजनीती से सन्यास और राष्ट्रीय स्तर पर बामसेफ प्रचारक का कार्य करते रहेंगे। राष्ट्रीय स्तर की जर्नल बॉडी की बैठक मे सर्व सम्मत्ती से राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद पर पूर्व कार्यकारी अध्यक्ष जे एस कश्यप को राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद पर चुना गया। राष्ट्रीय उपाध्यक्ष के लिए मा वैकटेस लांमबाड़ा, मा हिरजीभाई सम्राट, डी राम देसाई, राष्ट्रीय महासचिव के पद पर मा बालासाहब मिसाल पाटिल, मा डॉ एस अकमल, माननीय एडवोकेट आयुष्मति सुमिता पाटिल, माननीय एडवोकेट नरेश कुमार,

*पिछड़ों अति पिछड़ों शूद्रों अछूतों तथाकथित जाति धर्म से आजादी की चाबी बाबा साहब का भारतीय संविधान-गादरे*

(हिन्दू-मुस्लिम के षड्यंत्रकारियो के जाल और कैद खाने से sc obc st minorities जंग लडो बेईमानो से मूल निवासी हो बाबा फुले और  भीमराव अम्बेडकर के सपनो को साकार करें--गादरे)* मेरठ:--बाबा ज्योति बा फुले और बाबा भीमराव अंबेडकर भारत रत्न ही नहीं विश्व रतन की जयंती पर हमें शपथ लेनी होगी की हिन्दू-मुस्लिम के षड्यंत्रकारियो के जाल और कैद खाने से sc obc st minorities जंग लडो बेईमानो से मूल निवासी हो बाबा फुले और भीमराव अम्बेडकर के सपनो को साकार करें। बहुजन मुक्ति पार्टी के आर डी गादरे ने महात्मा ज्योतिबा फुले और भारत रत्न डॉक्टर बाबा भीमराव अंबेडकर की जन्म जयंती के अवसर पर समस्त मूल निवासियों को हार्दिक शुभकामनाएं देते हुए आह्वान किया कि आज हम कुछ विदेशी षड्यंत्र कार्यों यहूदियों पूंजीपतियों अवसर वादियों फासीवादी लोगों के चंगुल से निकलने के लिए एक आजादी की लडाई लरनी होगी। आज भी आजाद होते हुए फंसे हुए हैं। डॉक्टर बाबा भीमराव अंबेडकर के लोकतंत्र और भारतीय संविधान को अपने हाथों से दुश्मन के चंगुल में परिस्थितियों को समझें। sc obc st MINORITIES खुद सर्वनाश करने पर लगे हुए हैं और आने वाली नस्लों को गु

सरधना विधानसभा से ए आई एम आई एम के भावी प्रत्याशी हाजी आस मौहम्मद ने किया बड़ा ऐलान अब मुसलमान अपमानित नहीं होगा क्योंकि आ गई है उनकी पार्टी

खलील शाह/ साबिर सलमानी की रिपोर्ट  ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन की नेशनल पब्लिक स्कूल लश्कर गंज बाजार सरधना में आयोजित बैठक में भावी प्रत्याशी हाजी आस मौहम्मद ने कहा कि ए आई एम आई एम पार्टी सरधना विधानसभा क्षेत्र में शोषित,वंचित और मुसलमानों को उनके अधिकार दिलाने के लिए आई है। आज भी सरधना विधानसभा क्षेत्र पिछड़ा हुआ है। राष्ट्रीय अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी साहब ने उत्तर प्रदेश के शोषित और वंचित समाज को इंसाफ दिलाने का बीड़ा उठाया है। ए आई एम आई एम पार्टी ने मुसलमानों को दरी बिछाने वाला से टिकट बांटने वाला बनाने का बीड़ा उठाया है। जिस प्रकार आज सपा के मंचों पर मुसलमानों को अपमानित किया जा रहा है उसका बदला ए आई एम आई एम को वोट देकर सत्ता में हिस्सेदारी लेकर लेना होगा। हाजी आस मोहम्मद ने कहा कि उनके भाई हाजी अमीरुद्दीन ने तमाम उम्र समाजवादी पार्टी को आगे बढ़ाने में गुजार दी और जब किसी बीमारी की वजह से उनका इंतकाल हुआ तो समाजवादी पार्टी का कोई नुमाइंदा भी उनके परिवार की खबर गिरी करने नहीं आया । आजादी से लेकर आज तक मुस्लिम समाज सेकुलर दलों को अपना वोट देता आ रहा है लेकिन उसके बदले मे