Skip to main content

सोनभद्र में बालू खदानों के लिए लगती है आदिवासियों की मंडी

सोनभद्र। उत्तर प्रदेश के आदिवासी बहुल सोनभद्र जिले में सरकारी और गैर सरकारी तमाम कारखाने होने के बाद भी बेरोजगारी का आलम यह है कि दो वक्त की रोटी के जुगाड़ के लिए बालू खदानों में मजदूरी के लिए आदिवासियों की 'मंडी' लगती है। जहां सिर्फ मजबूत कद-काठी वाले मजदूरों की छंटनी पर ही काम मिलता है।

उत्तर प्रदेश में सोनभद्र ही एकलौता जिला है, जहां 60 से 65 फीसदी आबादी आदिवासियों की है। यहां बिजली उत्पादन के अलावा अन्य कई सरकारी एवं गैर सरकारी कारखाने भी हैं। फिर भी बेरोजगारी का आलम यह है कि गरीबी का दंश झेल रहे आदिवासियों के मजदूरी के लिए वैध और अवैध रूप से चल रही बालू की खदानों में 'मजदूर मंडी' लगती है।

ज्यादातर खदानों में भारी-भरकम मशीनों से बालू का खनन होता है, जहां कुछ मजबूत कद-काठी वाले आदिवासी युवकों को चिह्नित कर काम पर लगा लिया जाता है।

बानगी के तौर पर दुधी तहसील क्षेत्र की कनहर नदी के कोरगी, पिपराडीह और नगवा बालू घाट को ही ले लीजिए। यहां खनिज विभाग ने हाल ही में बालू खनन का आवंटन इस प्रतिबंध के साथ किया है कि भारी-भरकम मशीनों से नदी की बीच जलधारा में बालू का खनन न किया जाए, लेकिन माफिया खनन नीति को दरकिनार अपने हिसाब से कार्य को अंजाम दे रहे हैं। और तो और, जेसीबी जैसी भारी-भरकम मशीनों की रखवाली के लिए 'दिहाड़ी' पर पुलिसकर्मी भी तैनात हैं।

इसी नदी की कोरगी बालू घाट पर काम की तलाश में जाने वाले डुमरा गांव के असरफी, सोमारू, अमर शाह, शाहगंज का मेवालाल, पिपराडीह गांव के रूप शाह, विजय, दिलबरन और मान सिंह जैसे दर्जनों आदिवासी मजदूर प्रतिदिन सुबह 'मजदूर मंडी' में हाजिर होते हैं, लेकिन बमुश्किल कुछ मजबूत कद-काठी वाले युवकों को ही खदान में काम मिल पाता है।

डुमरा गांव के आदिवासी मजदूर सोमारू ने गुरुवार को बताया कि वह लगातार पांच दिन से अपने साथियों के साथ कोरगी बालू खदान की मजदूर मंडी में जा रहे हैं, लेकिन खनन पट्टाधारक यह कहकर काम नहीं दे रहा कि अभी मशीनों से काम हो रहा है, जब मजदूरों की जरूरत होगी, तब बुलाया जाएगा।

उन्होंने बताया, "गांव में मनरेगा योजना के तहत भी कोई काम नहीं मिल रहा, ऐसी स्थिति में बच्चे भूख से बिलबिला रहे हैं। अब पलायन के अलावा कोई दूसरा चारा नहीं बचा।"

शाहगंज गांव के मेवालाल ने बताया, "मजदूरों ने मशीनों से बालू खनन का विरोध किया तो ठेकेदार ने मशीनों की रखवाली के लिए 'दिहाड़ी' पर पुलिसकर्मी तैनात करवा लिए हैं। ज्यादा विरोध करने पर पुलिस उनके साथ मारपीट भी करती है। दो दिन पूर्व कोरगी घाट में पुलिस ने एक मजदूर को बुरी तरह पीटा है, उसका अब भी अस्पताल में इलाज चल रहा है।"

गुरुवार को जब आईएएनएस ने खनिज अधिकारी के.के. राय से जिले की नदियों में चल रही बालू की खदानों के बारे में जानकारी चाहा तो उन्होंने कहा, "ऊपर के अधिकारियों ने मीडिया को कुछ भी बताने या बाइट देने से मना किया है, हम कुछ भी जानकारी नहीं देंगे।"

सोन और हरदी पहाड़ी में तीन हजार टन सोना मिलने की पुष्टि सबसे पहले मीडिया से इन्हीं अधिकारी ने की थी, जिससे सोनभद्र अचानक से जिला विश्वभर में चर्चा में आ गया था और बाद में जीएसआई को विज्ञप्ति जारी कर 'सोना नहीं, स्वर्ण अयस्क' मिलने की बात कहकर खंडन करना पड़ा था। शायद इस गलत बयानी की वजह से उन्हें मुंह बंद करने के लिए कहा गया होगा।

अलबत्ता, दुधी तहसील के उपजिलाधिकारी (एसडीएम) सुशील कुमार यादव ने कहा, "खनन नीति के तहत आवंटित बालू खदानों में नियमानुसार बालू का खनन हो रहा है। समय-समय पर खदानों का निरीक्षण भी किया जाता है।"

एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, "आदिवासियों की आर्थिक स्थिति कुछ ज्यादा ही कमजोर है, इसलिए हो सकता है कि बड़ी तादाद में मजदूरों के पहुंचने पर खदान मालिक सबको काम न दे पा रहे हों।"


Popular posts from this blog

*बहुजन मुक्ति पार्टी की राष्ट्रीय स्तर जनरल बॉडी बैठक मे बड़े स्तर पर फेरबदल प्रवेंद्र प्रताप राष्ट्रीय महासचिव आदि को 6 साल के लिए निष्कासित*

*(31 प्रदेश स्तरीय कमेटी भंग नये सिरे से 3 महिने मे होगा गठन)* नई दिल्ली:-बहुजन मुक्ति पार्टी राष्ट्रीय जनरल बॉडी की मीटिंग गड़वाल भवन पंचकुइया रोड़ नई दिल्ली में संपन्न हुई।  बहुजन मुक्ति पार्टी मीटिंग की अध्यक्षता  मा०वी०एल० मातंग साहब राष्ट्रीय अध्यक्ष बहुजन मुक्ति  पार्टी ने की और संचालन राष्ट्रीय महासचिव माननीय बालासाहेब पाटिल ने किया।  बहुजन मुक्ति पार्टी की जनरल ढांचे की बुलाई मीटिंग में पुरानी बॉडी में फेर बदल किया गया। मा वी एल मातंग ने स्वयं एलान किया की खुद स्वेच्छा से बहुजन मुक्ति पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे रहे हैं राजनीती से सन्यास और राष्ट्रीय स्तर पर बामसेफ प्रचारक का कार्य करते रहेंगे। राष्ट्रीय स्तर की जर्नल बॉडी की बैठक मे सर्व सम्मत्ती से राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद पर पूर्व कार्यकारी अध्यक्ष जे एस कश्यप को राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद पर चुना गया। राष्ट्रीय उपाध्यक्ष के लिए मा वैकटेस लांमबाड़ा, मा हिरजीभाई सम्राट, डी राम देसाई, राष्ट्रीय महासचिव के पद पर मा बालासाहब मिसाल पाटिल, मा डॉ एस अकमल, माननीय एडवोकेट आयुष्मति सुमिता पाटिल, माननीय एडवोकेट नरेश कुमार,

*पिछड़ों अति पिछड़ों शूद्रों अछूतों तथाकथित जाति धर्म से आजादी की चाबी बाबा साहब का भारतीय संविधान-गादरे*

(हिन्दू-मुस्लिम के षड्यंत्रकारियो के जाल और कैद खाने से sc obc st minorities जंग लडो बेईमानो से मूल निवासी हो बाबा फुले और  भीमराव अम्बेडकर के सपनो को साकार करें--गादरे)* मेरठ:--बाबा ज्योति बा फुले और बाबा भीमराव अंबेडकर भारत रत्न ही नहीं विश्व रतन की जयंती पर हमें शपथ लेनी होगी की हिन्दू-मुस्लिम के षड्यंत्रकारियो के जाल और कैद खाने से sc obc st minorities जंग लडो बेईमानो से मूल निवासी हो बाबा फुले और भीमराव अम्बेडकर के सपनो को साकार करें। बहुजन मुक्ति पार्टी के आर डी गादरे ने महात्मा ज्योतिबा फुले और भारत रत्न डॉक्टर बाबा भीमराव अंबेडकर की जन्म जयंती के अवसर पर समस्त मूल निवासियों को हार्दिक शुभकामनाएं देते हुए आह्वान किया कि आज हम कुछ विदेशी षड्यंत्र कार्यों यहूदियों पूंजीपतियों अवसर वादियों फासीवादी लोगों के चंगुल से निकलने के लिए एक आजादी की लडाई लरनी होगी। आज भी आजाद होते हुए फंसे हुए हैं। डॉक्टर बाबा भीमराव अंबेडकर के लोकतंत्र और भारतीय संविधान को अपने हाथों से दुश्मन के चंगुल में परिस्थितियों को समझें। sc obc st MINORITIES खुद सर्वनाश करने पर लगे हुए हैं और आने वाली नस्लों को गु

सरधना विधानसभा से ए आई एम आई एम के भावी प्रत्याशी हाजी आस मौहम्मद ने किया बड़ा ऐलान अब मुसलमान अपमानित नहीं होगा क्योंकि आ गई है उनकी पार्टी

खलील शाह/ साबिर सलमानी की रिपोर्ट  ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन की नेशनल पब्लिक स्कूल लश्कर गंज बाजार सरधना में आयोजित बैठक में भावी प्रत्याशी हाजी आस मौहम्मद ने कहा कि ए आई एम आई एम पार्टी सरधना विधानसभा क्षेत्र में शोषित,वंचित और मुसलमानों को उनके अधिकार दिलाने के लिए आई है। आज भी सरधना विधानसभा क्षेत्र पिछड़ा हुआ है। राष्ट्रीय अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी साहब ने उत्तर प्रदेश के शोषित और वंचित समाज को इंसाफ दिलाने का बीड़ा उठाया है। ए आई एम आई एम पार्टी ने मुसलमानों को दरी बिछाने वाला से टिकट बांटने वाला बनाने का बीड़ा उठाया है। जिस प्रकार आज सपा के मंचों पर मुसलमानों को अपमानित किया जा रहा है उसका बदला ए आई एम आई एम को वोट देकर सत्ता में हिस्सेदारी लेकर लेना होगा। हाजी आस मोहम्मद ने कहा कि उनके भाई हाजी अमीरुद्दीन ने तमाम उम्र समाजवादी पार्टी को आगे बढ़ाने में गुजार दी और जब किसी बीमारी की वजह से उनका इंतकाल हुआ तो समाजवादी पार्टी का कोई नुमाइंदा भी उनके परिवार की खबर गिरी करने नहीं आया । आजादी से लेकर आज तक मुस्लिम समाज सेकुलर दलों को अपना वोट देता आ रहा है लेकिन उसके बदले मे