Skip to main content

जमीयत उलमा ए हिंद और जमात-ए-इस्लामी हिंद के संयुक्त प्रतिनिधिमंडल की असम के मुख्यमंत्री से भेंट।

प्रतिनिधिमंडल ने कहा कि दरांग की  अमानवीय घटनाओं पर हम शर्मिंदा हैं। मुख्यमंत्री न्याय दिलाने में अपनी भूमिका का निर्वहन करें और पीड़ितों को उचित मुआवज़े की घोषणा करें। 

नई दिल्ली (27 सितंबर 2021) जमीयत उलमा ए हिंद और जमात-ए-इस्लामी हिंद के संयुक्त प्रतिनिधिमंडल ने जमीयत उलमा ए हिंद के राष्ट्रीय अध्यक्ष मौलाना महमूद मदनी और जमात ए इस्लामी हिंद के अमीर सैयद सआदततुल्ला हुसैनी के निर्देश पर असम के मुख्यमंत्री हेमंत कुमार बिस्वा सरमा  से गुवाहाटी में स्थित उनके कार्यालय में भेंट की और ज़िला दरांग के धौलपुर में सरकारी भूमि को खाली कराने में हुई हिंसक घटना और अमानवीयता तथा गरीब व मजदूर वर्ग को अपने ही देश में बेघर करने पर अपना रोष प्रकट किया और मांग की, कि (1) इस घटना की उच्च स्तरीय न्यायिक जांच कराई जाए। 

(2) पुलिस कार्रवाई में मारे जाने वालों को बीस लाख और घायल होने वालों को दस लाख मुआवज़ा दिया जाए। (3) उजाड़े गए परिवारों के लिए दवाएं, पानी और खाद्य वस्तुओं का प्रबंध किया जाए। (4) सरकार की तरफ से 6 बीघा ज़मीन खेती के लिए और एक बीघा ज़मीन रहने के लिए, देने का वादा किया था उसे शीघ्र पूरा किया जाए। 


प्रतिनिधिमंडल में शामिल जमीयत उलमा ए हिंद के महासचिव मौलाना हकीमुददीन क़ासमी ने कहा कि दरांग ज़िले में जो कुछ हुआ वह बड़ा अमानवीय और बर्बरता वाला है। हम यह आशा करते हैं कि आप निर्बल, असहाय, पीड़ितों को न्याय दिलाने में निजी तौर से सहायता करेंगे। हमारे देश के संविधान में मानव अधिकारों को प्राथमिकता प्राप्त है। कोई भी भूमि का टुकड़ा किसी भी व्यक्ति के जीवन से ऊपर या महत्वपूर्ण नहीं है। इसलिए हम आशा करते हैं कि असम के मुख्यमंत्री मानवीय मूल्यों की सुरक्षा करेंगे और पीड़ितों को न्याय दिलाने में बड़ी तत्परता से काम लेंगे। 

इससे पूर्व रविवार को संयुक्त प्रतिनिधिमंडल ने जिला दरांग की डीसी श्रीमती प्रभाती थावसेन और एसपी सुशांता विस्वा सरमा से भेंट करके पुलिस कार्रवाई की कड़े शब्दों में निंदा की। इस पर सुशांता विस्वा सरमा ने कहा कि इस घटना की उच्च स्तरीय न्यायिक जांच कराई जा रही है। आगे की भी कार्रवाई करेंगे।

ज्ञात रहे कि जमीयत उलमा ए हिंद के अध्यक्ष मौलाना महमूद मदनी ने 24 सितंबर को भारत के गृहमंत्री व मानव अधिकार आयोग और असम के मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर न्याय दिलाने की ओर ध्यान आकर्षित कराया था। जमीयत उलमा असम के महासचिव हाफ़िज बशीर अहमद क़ासमी ने बताया कि हमारा प्रतिनिधिमंडल घायलों से अस्पताल में मिलेगा। उसके बाद प्रभावित परिवारों से दरांग ज़िले में जाकर मिलेगा। उन्होंने बताया कि जमीयत उलमा असम के अध्यक्ष मौलाना बदरुद्दीन अजमल क़ासमी ने निर्धारित किया है कि घायलों को जमीयत उलमा असम और अजमल फाउंडेशन की ओर से बीस बीस हजार रुपए दिए जाएंगे। 

प्रतिनिधिमंडल में मौलाना हकीमुद्दीन क़ासमी महासचिव जमीयत उलमा ए हिंद, श्री अमीन उल हसन उपाध्यक्ष जमात ए इस्लामी हिंद, मोहम्मद शफी मदनी, सेक्रेटरी जमात इस्लामी हिंद, सलमान अहमद अध्यक्ष एसआईओ इंडिया, मौलाना अब्दुल सलाम महासचिव जमीयत उलमा पश्चिमी बंगाल, हाफ़िज बशीर अहमद क़ासमी महासचिव जमीयत उलमा असम, मौलाना अब्दुल कादिर क़ासमी एडिशनल जनरल सेक्रेटरी जमीयत उलमा असम, मौलाना महबूब हसन एडिशनल जनरल सेक्रेटरी जमीयत उलमा असम, डॉक्टर हाफ़िज रफीकुल इस्लाम क़ासमी एमएलए और सेक्रेटरी जमीयत उलमा असम, हाजी अमीन उल इस्लाम एमएलए, जनाब मुजीबउर रहमान एमएलए, जनाब मोमिन उर रहमान ऑफिस सेक्रेटरी जमीयत उलमा असम, मौलाना हाशिम सदस्य और जमीयत उलमा दरांग के कार्यकर्ता शामिल थे।


Popular posts from this blog

*बहुजन मुक्ति पार्टी की राष्ट्रीय स्तर जनरल बॉडी बैठक मे बड़े स्तर पर फेरबदल प्रवेंद्र प्रताप राष्ट्रीय महासचिव आदि को 6 साल के लिए निष्कासित*

*(31 प्रदेश स्तरीय कमेटी भंग नये सिरे से 3 महिने मे होगा गठन)* नई दिल्ली:-बहुजन मुक्ति पार्टी राष्ट्रीय जनरल बॉडी की मीटिंग गड़वाल भवन पंचकुइया रोड़ नई दिल्ली में संपन्न हुई।  बहुजन मुक्ति पार्टी मीटिंग की अध्यक्षता  मा०वी०एल० मातंग साहब राष्ट्रीय अध्यक्ष बहुजन मुक्ति  पार्टी ने की और संचालन राष्ट्रीय महासचिव माननीय बालासाहेब पाटिल ने किया।  बहुजन मुक्ति पार्टी की जनरल ढांचे की बुलाई मीटिंग में पुरानी बॉडी में फेर बदल किया गया। मा वी एल मातंग ने स्वयं एलान किया की खुद स्वेच्छा से बहुजन मुक्ति पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे रहे हैं राजनीती से सन्यास और राष्ट्रीय स्तर पर बामसेफ प्रचारक का कार्य करते रहेंगे। राष्ट्रीय स्तर की जर्नल बॉडी की बैठक मे सर्व सम्मत्ती से राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद पर पूर्व कार्यकारी अध्यक्ष जे एस कश्यप को राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद पर चुना गया। राष्ट्रीय उपाध्यक्ष के लिए मा वैकटेस लांमबाड़ा, मा हिरजीभाई सम्राट, डी राम देसाई, राष्ट्रीय महासचिव के पद पर मा बालासाहब मिसाल पाटिल, मा डॉ एस अकमल, माननीय एडवोकेट आयुष्मति सुमिता पाटिल, माननीय एडवोकेट नरेश कुमार,

*पिछड़ों अति पिछड़ों शूद्रों अछूतों तथाकथित जाति धर्म से आजादी की चाबी बाबा साहब का भारतीय संविधान-गादरे*

(हिन्दू-मुस्लिम के षड्यंत्रकारियो के जाल और कैद खाने से sc obc st minorities जंग लडो बेईमानो से मूल निवासी हो बाबा फुले और  भीमराव अम्बेडकर के सपनो को साकार करें--गादरे)* मेरठ:--बाबा ज्योति बा फुले और बाबा भीमराव अंबेडकर भारत रत्न ही नहीं विश्व रतन की जयंती पर हमें शपथ लेनी होगी की हिन्दू-मुस्लिम के षड्यंत्रकारियो के जाल और कैद खाने से sc obc st minorities जंग लडो बेईमानो से मूल निवासी हो बाबा फुले और भीमराव अम्बेडकर के सपनो को साकार करें। बहुजन मुक्ति पार्टी के आर डी गादरे ने महात्मा ज्योतिबा फुले और भारत रत्न डॉक्टर बाबा भीमराव अंबेडकर की जन्म जयंती के अवसर पर समस्त मूल निवासियों को हार्दिक शुभकामनाएं देते हुए आह्वान किया कि आज हम कुछ विदेशी षड्यंत्र कार्यों यहूदियों पूंजीपतियों अवसर वादियों फासीवादी लोगों के चंगुल से निकलने के लिए एक आजादी की लडाई लरनी होगी। आज भी आजाद होते हुए फंसे हुए हैं। डॉक्टर बाबा भीमराव अंबेडकर के लोकतंत्र और भारतीय संविधान को अपने हाथों से दुश्मन के चंगुल में परिस्थितियों को समझें। sc obc st MINORITIES खुद सर्वनाश करने पर लगे हुए हैं और आने वाली नस्लों को गु

सरधना विधानसभा से ए आई एम आई एम के भावी प्रत्याशी हाजी आस मौहम्मद ने किया बड़ा ऐलान अब मुसलमान अपमानित नहीं होगा क्योंकि आ गई है उनकी पार्टी

खलील शाह/ साबिर सलमानी की रिपोर्ट  ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन की नेशनल पब्लिक स्कूल लश्कर गंज बाजार सरधना में आयोजित बैठक में भावी प्रत्याशी हाजी आस मौहम्मद ने कहा कि ए आई एम आई एम पार्टी सरधना विधानसभा क्षेत्र में शोषित,वंचित और मुसलमानों को उनके अधिकार दिलाने के लिए आई है। आज भी सरधना विधानसभा क्षेत्र पिछड़ा हुआ है। राष्ट्रीय अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी साहब ने उत्तर प्रदेश के शोषित और वंचित समाज को इंसाफ दिलाने का बीड़ा उठाया है। ए आई एम आई एम पार्टी ने मुसलमानों को दरी बिछाने वाला से टिकट बांटने वाला बनाने का बीड़ा उठाया है। जिस प्रकार आज सपा के मंचों पर मुसलमानों को अपमानित किया जा रहा है उसका बदला ए आई एम आई एम को वोट देकर सत्ता में हिस्सेदारी लेकर लेना होगा। हाजी आस मोहम्मद ने कहा कि उनके भाई हाजी अमीरुद्दीन ने तमाम उम्र समाजवादी पार्टी को आगे बढ़ाने में गुजार दी और जब किसी बीमारी की वजह से उनका इंतकाल हुआ तो समाजवादी पार्टी का कोई नुमाइंदा भी उनके परिवार की खबर गिरी करने नहीं आया । आजादी से लेकर आज तक मुस्लिम समाज सेकुलर दलों को अपना वोट देता आ रहा है लेकिन उसके बदले मे