Skip to main content

त्रिपुरा सरकार और प्रशासन तुरंत कट्टरपंथी साम्प्रदायिक दंगाई तत्वों को सख़्त सज़ा दे : जमीयत उलमा ए हिंद

दंगा प्रभावित दुकानों, मकानों और धार्मिक स्थलों की पुनर्स्थापना की जाए तथा उनके मालिकों को उचित मुआवज़ा दिया जाए

प्रेस क्लब आफ त्रिपुरा में जमीयत उलमा त्रिपुरा की प्रेस कॉन्फ्रेंस में राष्ट्रीय महासचिव मौलाना हकीमुद्दीन क़ासमी ने उठाया अल्पसंख्यकों की सुरक्षा का मुद्दा।

अगरतला ( 1 नवंबर 2021 )(अनवार अहमद नूर)आज जमीअत उलमा त्रिपुरा के नेतृत्व में प्रेस क्लब आफ त्रिपुरा में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करके जमीअत उलमा हिंद के केंद्रीय प्रतिनिधिमंडल के प्रमुख मौलाना हकीमुद्दीन क़ासमी, महासचिव, जमीअत उलमा ए हिंद ने त्रिपुरा के दंगे की गंभीर व चिंताजनक परिस्थितियों को बताया और  त्रिपुरा एवं केन्द्र की सरकारों से कहा कि यहां  जुलूस में नबी अकरम सल्लल्लाहू अलैहि वसल्लम का अपमान करने वालों को कड़ी से कड़ी सज़ा दी जाए।


दंगा, आग़जनी और अल्पसंख्यकों पर हमले करने वालो को सख़्त सज़ा दी जाए। दंगा प्रभावित दुकानों, मकानों और धार्मिक स्थलों की पुनर्स्थापना की जाए तथा उनके मालिकों को उचित मुआवज़ा दिया जाए। एवं राज्य के डीजीपी और प्रभावित क्षेत्रों के पुलिस प्रशासन को निलंबित किया जाए। साथ ही यहां के मुस्लिम अल्पसंख्यकों के जीवन और सम्पत्ति की सुरक्षा के लिए विशेष दल तैनात किए जाएं। 

प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया गया कि त्रिपुरा सदैव से एक शांतिपूर्ण राज्य रहा है यहां हिंदू और मुस्लिम के नाम पर कभी बड़े सांप्रदायिक दंगे नहीं हुए, लेकिन इन दिनों जिस तरह विश्व हिंदू परिषद, बजरंग दल इत्यादि ने राज्य के शांतिपूर्ण वातावरण को ज़हरीला और प्रदूषित किया है।उसके परिणाम में त्रिपुरा के विभिन्न भागों में मुस्लिम अल्पसंख्यकों के मकानों, दुकानों और मस्जिदों पर हमले किए गए, और उन्हें जलाया गया, जो अत्यधिक निंदनीय और पीड़ादायक है। विश्व हिंदू परिषद की एक रैली में पैग़ंबरे इस्लाम सल्लल्लाहो अलैहि वसल्लम की शान में अत्यधिक अशोभनीय शब्द कहे गए लेकिन आज तक पुलिस प्रशासन ने इस पर कोई एक्शन नहीं लिया।जबकि  यह आवश्यक नहीं था कि राज्य सरकार और पुलिस प्रशासन ऐसे तत्वों के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही करती और उनको उनकी करनी की सज़ा देती। लेकिन इसके विपरीत, लाॅ एंड आर्डर के प्रमुख पुलिस डीजीपी श्री वी. एस. यादव ने ट्विटर के माध्यम से, यहां होने वाली घटनाओं को फेक न्यूज़ बताया और अपने बयान में यह सफेद झूठ का इस्तेमाल किया कि पानी सागर में किसी मस्जिद में आग़जनी नहीं की गई। 

इन कारणों को देखते हुए जमीअत उलमा ए हिंद के राष्ट्रीय अध्यक्ष मौलाना महमूद मदनी साहब के निर्देशों पर जमीअत उलमा ए हिंद की एक फैक्ट फाइंडिंग टीम, यहां घटनास्थल पर उपस्थित है। इस टीम में जमीयत उलमा ए हिंद के राष्ट्रीय महासचिव, मौलाना हकीमुद्दीन क़ासमी, मौलाना अब्दुल मोमिन, अध्यक्ष जमीयत उलमा त्रिपुरा, मौलाना गय्यूर अहमद क़ासमी और मौलाना यासीन जहाज़ी शामिल हैं। 

मौलाना हकीमुद्दीन क़ासमी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि "हमने पानी सागर का भी दौरा किया है हमारे पास तस्वीर है। यहां मस्जिद सीआरपीएफ पानी सागर को अत्याचारियों ने निर्दयता से आग के हवाले किया है। जो कुछ भी यहां हुआ है वह रूह को कंपाने वाला है और यहां के मुस्लिम अल्पसंख्यक भयभीत हैं।" 

कोई भी सरकार सत्यता से आंखे बंद करके या किसी वास्तविक घटना का खंडन करके, सच्चाई को दबा नहीं सकती और न वह अपनी ज़िम्मेदारी (कर्तव्य) से बच सकती है लेकिन इसका यह रवैया अपने संवैधानिक पद का निरादर करने जैसा है। यह सरकार का संवैधानिक कर्तव्य होता है कि वह अपने अल्पसंख्यकों के जीवन और सम्पत्ति की सुरक्षा के कर्तव्य का निर्वहन करे, जिसमें यहां की सरकार और पुलिस दोनों असफल रहे हैं।

जमीयत उलमा ए हिंद ने यहां जो कुछ भी देखा है उसकी फैक्ट रिपोर्ट तैयार करेगी और भारत सरकार के उच्च अधिकारियों से भेंट करके उन्हें प्रस्तुत करेगी। हमारी लड़ाई इस देश के सम्मान और अखंडता की सुरक्षा की भी है, बिना किसी धार्मिक भेदभाव के पीड़ितों, असहायों व कमज़ोरों के संवैधानिक अधिकारों की सुरक्षा के लिए देश के सभी वर्गों के लोग एकजुट हैं। 

इस कॉन्फ्रेंस को जमीयत उलमा त्रिपुरा के अध्यक्ष, मुफ़्ती अब्दुल मोमिन शाह ने भी संबोधित किया।

Popular posts from this blog

थाना अमरिया पुलिस द्वारा 04 अभियुक्तों को 68 किलोग्राम डोडा पोस्ता व डोडा चूरा सहित किया गिरफ्तार

 पीलीभीत के थाना अमरिया में आज दिनांक 05.09.2022 को थाना अमरिया जनपद पीलीभीत पुलिस द्वारा पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार प्रभु जनपद पीलीभीत के निर्देशन में व  अपर पुलिस अधीक्षक महोदय जनपद पीलीभीत व क्षेत्राधिकारी सदर महोदय जनपद पीलीभीत के कुशल नेतृत्व में अपराधियों के विरुद्ध जनपद में मादक पदार्थ व जहरीली शराब की तस्करी व रोकथाम हेतु चलाये जा रहे अभियान के तहत  थाना अमरिया पुलिस द्वारा 02 अभियुक्तगणों 1.महेश कुमार गुप्ता पुत्र ओमप्रकाश निवासी कस्बा व थाना अमरिया जनपद पीलीभीत व  2.रवि गुप्ता पुत्र महेश गुप्ता निवासी कस्बा व थाना अमरिया जनपद पीलीभीत को उनके घर के पास से गिरफ्तार किया गया तथा इनके कब्जे से मादक पदार्थ 31 किलोग्राम ( डोडा पोस्ता व डोडा चूरा ) बरामद हुआ गिरफ्तार किए गये अभियुक्तगणों से गहनता से पूछताछ के दौरान उन्होनों बरामद मादक पदार्थों को  अभियुक्त प्रमोद गुप्ता पुत्र मटरु लाल निवासी ग्राम देवचरा थाना भमौरा जनपद बरेली व अभियुक्त विनोद कुमार गुप्ता पुत्र मटरु लाल निवासी ग्राम देवचरा थाना भमौरा जनपद बरेली से खरीद कर लाना बताया इस पूछताछ के दौरान प्रकाश में आये अभियुक्त प्रमोद

पीलीभीत की तहसील अमरिया में डीआई ने मारा छापा 15 दिन के लिए मेडिकल बंद करने का दिया आदेश|

हम करेंगे समाधान के लिए अमरिया से आमिर मलिक की रिपोर्ट,  पीलीभीत की तहसील अमरिया में डीआई ने आवेश ने मारा छापा जिसमें 15 दिन के लिए मेडिकल बंद करने का आदेश दिया आज दिनांक 14 सितम्बर 2022 को मै औषधि निरीक्षक पीलीभीत श्रीमती नेहा वैश अपरान्ह लगभग 04:50 बजे पुलिस बल थाना अमरिया के सहयोग से औचक निरीक्षण की कार्यवाही की गई, जिस दौरान हेल्थ केयर मेडिकल स्टोर, थाना व तहसील अमरिया, का औचक निरीक्षण कर दवा भंडारण, क्रय विक्रय से सम्बन्धित बिल आदि अनियमितताये पाये जाने पर तत्काल 15 कार्य दिवस के लिए लाईसेन्स निलम्बन की संस्तुति की गई,  कार्यवाही के दौरान एक अन्य दवा प्रतिष्ठान सीमा मेडिकल स्टोर, थाना व तहसील  अमरिया, जनपद पीलीभीत पर औचक निरीक्षण किया, मौके पर दवाओ का रखरखाव व प्राप्त अन्य अनियमितताओ मे सुधार हेतु चेतावनी दी व उक्त पर नियमानुसार कारण बताओ नोटिस के माध्यम से कार्यवाही की जाएगी |

आज कुछ षड्यंत्रकारी राष्ट्र भक्त बनकर दोबारा से देश को गुलाम बनाने को ओ बी सी एस सी एस ए टी को गुमराह कर रहे हैं उनसे सावधान रहें- गादरे*

मेरठ:-अन्ग्रेजो से मुस्लिमो ने करीब 350 सालो तक आजादी लेने मे सबसे बड़ी लम्बी लडाई लडकर सबसे बड़ योगदान दिया जो आज कुछ षड्यंत्रकारी राष्ट्र भक्त बनकर दोबारा से देश को गुलाम बनाने के लिए ओ बी सी एस सी एस टी को गुमराह कर रहे हैं उनसे सावधान रहें। स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर बहुजन मुक्ति पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष आर डी गादरे ने फ्लोरेंस इन्टरनेशनल एकेडेमी मे ध्वजारोहण किया। रोड रैली निकाली और ग्राम पंचली  गुजुर्ग मे मौलाना मुनववर आवास पर सभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि 75 साल मे भी आज ये आजादी झूठी है, देश की जनता भूखी। आज बेरोजगारी भुखमरी अत्याचार निजीकरण महंगाई खाने पीने के समान पर भी टेक्स देना पद रहा है। आज देश की जनता को आजादी के नाम पर लोकतंत्र खतरे में है। कितने सुबूत चाहिए कि वर्तमान सरकार मे निस्पक्छ न्याय की उम्मीद करना मुस्किल काम है। चंचल त्रिपाठी मंदिर में गोमांस रखवा दिया ताकि दंगे हो और थाना प्रभारी हट जाए.मुसलमानों के 3 मांस दुकान और लकड़ी के 17 खोखे जला दिए इसी बात पर हिंदुओं ने बेगुनाह मुस्लिमों को जेल में ठूंस दिया गया.मुंबई के विष्णु विभु भौमिक ने खुद को अफजल बताकर अम्बान