Skip to main content

नफरत की परिणति हिंसा और हत्या नहीं हो सकती।

 ( विवेकानंद, महात्मा गांधी के देश में हिंसा का तांडव)

बीरभूम जिले के रामपुराहाट में हुई भीषण हिंसक घटना सर्वथा निंदनीय है। यह घटना तुणमुल कांग्रेस के एक पंचायत स्तर के नेता भादू शेख की कथित हत्या के कुछ घंटों के भीतर ही घटित हुई है ।कुछ लोगों ने अपने नेता की हत्या के प्रतिशोध में मकानों में आग लगा दी एवं दरवाजे बाहर से बंद भी कर दिए थे। एजेंसियों के अनुसार आग लगाने की पूर्व घर में निवास कर रहे बच्चों तथा महिलाओं के साथ मारपीट भी की गई, उसके पश्चात मकानों को भीषण आग के हवाले कर दिया गया। जले हुए बच्चों तथा स्त्री ,पुरुषों की लाशें पोस्टमार्टम करने लायक भी नहीं बचे थे, केवल हड्डियों और राख ही बची थी। इतनी क्रूर हत्या किसी नफरत की परिणति नहीं हो सकती। लोगों के बीच इतनी नफरत सदैव निंदनीय है। पश्चिम बंगाल सांस्कृतिक और ऐतिहासिक रूप से शांति, सौहार्द, संस्कृति की धरोहर के रूप में माना जाता रहा है, रामकृष्ण परमहंस, विवेकानंद, रविंद्र नाथ टैगोर और इन सब से ऊपर उठकर अहिंसक महात्मा गांधी के देश में इतनी हिंसा मानवीय समझ से परे है। इन सब के ऊपर तृणमूल कांग्रेस और अन्य पार्टियों के बीच इस हत्या को लेकर राजनीति करण भी घोर निंदनीय है।
ऐसा प्रतीत होता है कि पश्चिम बंगाल में पूरी तरह हिंसा और अराजकता की संस्कृति ने अपना घर बना लिया है। पश्चिम बंगाल के इतिहास में सबसे भीषण नरसंहार को लेकर राजनेताओं की प्रतिक्रिया अत्यंत आश्चर्यजनक है। हत्या में राहत देने की बजाय वहां की सरकार ने बयान बाजी कर अपना पल्ला झाड़ना चाहा है। उन्होंने कहा की कुछ छोटी मोटी घटनाओं को छोड़कर पश्चिम बंगाल में कानून राज्य की व्यवस्था अत्यंत शांतिपूर्ण एवं व्यवस्थित है। वहां के राज्यपाल महोदय ने अपनी तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा के इस भीषण नरसंहार की स्थिति में राज्यपाल तथा राज भवन केवल मूकदर्शक बनकर नहीं रह सकता है। राज्यपाल ने वहां की सरकार को पत्र लिखकर कहा है की राजनीति से ऊपर उठकर मानवता के लिए तत्काल कार्रवाई की जानी चाहिए।
पश्चिम बंगाल में मानवाधिकारों की धज्जियां उड़ाई जा रही है, इस भीषण हत्याकांड से पूरा देश स्तब्ध एवं दुखी है। पश्चिम बंगाल के पुलिस के आला अधिकारी के अनुसार रामपुरहाट के बगदुइ गांव में तड़के सुबह 8 मकानों में आग लगा दी गई, जिसमें दो बच्चे और 8 लोगों की मौत हो गई। इस भीषण नफरत के खेल में बच्चों और महिलाओं का बालको क्या दोष हो सकता है,जो इस तरह इन अबोध लोगों की भी जघन्य हत्या कर दी गई।
हत्या के बाद वृहद स्तर पर होती अमानवीय तू तू, मैं मैं को लेकर जितनी निंदा की जाए उतनी ही कम है। राज्य शासन का इस हत्याकांड की जिम्मेदारी से बचने का प्रयास समझ से परे है, जबकि राज्य के संवैधानिक प्रमुख राज्यपाल महोदय ने इसमें तत्काल संज्ञान लेकर वहां की मुख्यमंत्री को पत्र लिख तत्काल कार्रवाई कर मुआवजा देने की मांग की है। वहां के राज्यपाल ने यहां तक कहा की घटना की जांच के लिए गठित है एसआईटी संदेह से परे नहीं है वह केवल घटना को कवर करने के लिए और अपराधियों को वहां से सुरक्षित निकालने की कोशिश कर रही है।
इस संदर्भ में माननीय कोलकाता हाई कोर्ट में भी हिंसा को लेकर संज्ञान लेते हुए सुनवाई कर 24 मार्च तक केस डायरी लाने के निर्देश प्रसारित किए थे । माननीय कोर्ट ने यह भी निर्देश दिए हैं कि क्राइम सीन पर 24 घंटे कैमरे की निगरानी रखी जानी चाहिए और कैमरे डिस्टिक जज की निगरानी में लगाए जाने चाहिए। मा,हाईकोर्ट के निर्देश पर ही संपूर्ण घटना की जांच सीबीआई द्वारा करवाई जा रही है। इतना भयानक तथा भीषण हत्याकांड संपूर्ण मानवता ही अंदर तक कांप गई है। माननीय हाईकोर्ट न्यायालय द्वारा स्वत संज्ञान लेकर इस घटना में अपनी रूचि दिखाकर सुनवाई प्रारंभ की है। यह घटना पश्चिम बंगाल के प्रशासन पर कई तरह के प्रश्न चिन्ह लगाती है, एवं उनके द्वारा किए जा रहे कार्यों पर संदेह की पैदा करती है।
संजीव ठाकुर संयोजक, चिंतक, लेखक, रायपुर छत्तीसगढ़, 9009 415 415  

Popular posts from this blog

ग्राम कुलिंजन स्थित ईद गाह पर ईद के नमाज़ अदा की गई

  आज ईद उल फ़ितर के मौके पर ग्राम कुलिंजन स्थित ईद गाह पर ईद के नमाज़ अदा की गई,इस मौके पर क़ारी मेहताब खाँन साहब ने ईद के   पवित्र त्यौहार पर प्रकाश डाला व देश के अमन ओ अमान और एक दूसरे के साथ प्यार बाँटने का संदेश देते हुए,सभी को ईद की मुबारकबाद दी, ईद के नमाज़ क़ारी, रहीम साहब, पेश इमाम जामा मस्जिद कुलिंजन ने पढ़वाई व इस के साथ ही ख़सूसी दुआ करवाई, जय हिंद सोशल वेलफ़ेयर सोसायटी के अध्यक्ष मुशाम खाँन ने आये हुए  सभी नमाज़ियों की ईद की मुबारकबाद पेश की इस मौके पर मास्टर मईन उद्दीन खाँन, हाजी अरशद खाँन ,हाजी एहतेशाम,हाजी अतहर व हाजी अज़हर,हाफिज़ असग़र, सभी का इस्तकबाल करा।

कस्बा करनावल के नवनिर्वाचित चेयरमैन लोकेंद्र सिंह का किया गया सम्मान

सरधना में बाल रोग विशेषज्ञ डॉ महेश सोम के यहाँ हुआ अभिनन्दन समारोह  सरधना (मेरठ) सरधना में लश्कर गंज स्थित बाल रोग विशेषज्ञ डॉक्टर महेश सोम के नर्सिंग होम पर रविवार को कस्बा करनावल के नवनिर्वाचित चेयरमैन लोकेंद्र सिंह के सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। लोकेन्द्र सिंह के वह पहुँचते ही फूल मालाओं से जोरदार स्वागत किया गया। जिसके बाद पगड़ी व पटका  पहनाकर अभिनंदन किया गया। इस अवसर पर क़स्बा कर्णवाल के चेयरमैन लोकेंद्र सिंह ने कहा कि पिछले चार दसक से दो परिवारों के बीच ही चैयरमेनी चली आरही थी इस बार जिस उम्मीद के साथ कस्बा करनावल के लोगों ने उन्हें नगर की जिम्मेदारी सौंपी है उस पर वह पूरी इमानदारी के साथ खरा उतरने का प्रयास करेंगे। निष्पक्ष तरीके से पूरी ईमानदारी के साथ नगर का विकास करने में  कोई कसर बाकी नहीं छोड़ी जाएगी।   बाल रोग विशेषज्ञ डॉ महेश सोम,की अध्यक्षता में चले कार्यक्रम का संचालन शिक्षक दीपक शर्मा ने किया। इस दौरान एडवोकेट बांके पवार, पश्चिम उत्तर प्रदेश संयुक्त व्यापार मंडल के नगर अध्यक्ष वीरेंद्र चौधरी, एडवोकेट मलखान सैनी, भाजपा नगर मंडल प्रभारी राजीव जैन, सभासद संजय सोनी,

ज़मीनी विवाद में पत्रकार पर 10 लाख रंगदारी का झूठे मुकदमें के विरुद्ध एस एस पी से लगाई जाचं की गुहार

हम करेंगे समाधान" के लिए बरेली से रफी मंसूरी की रिपोर्ट बरेली :- यह कोई नया मामला नहीं है पत्रकारों पर आरोप लगना एक परपंरा सी बन चुकी है कभी राजनैतिक दबाव या पत्रकारों की आपस की खटास के चलते इस तरह के फर्जी मुकदमों मे पत्रकार दागदार और भेंट चढ़ते रहें हैं।  ताजा मामला   बरेली के  किला क्षेत्र के रहने वाले सलमान खान पत्रकार का है जो विभिन्न समाचार पत्रों से जुड़े हैं उन पर रंगदारी मांगने का मुक़दमा दर्ज कर दिया गया है। इस तरह के बिना जाचं करें फर्जी मुकदमों से तो साफ ज़ाहिर हो रहा है कि चौथा स्तंभ कहें जाने वाले पत्रकारों का वजूद बेबुनियाद और सिर्फ नाम का रह गया है यही वजह है भूमाफियाओं से अपनी ज़मीन बचाने के लिए एक पत्रकार व दो अन्य प्लाटों के मालिकों को दबाव में लेने के लिए फर्जी रगंदारी के मुकदमे मे फसांकर ज़मीन हड़पने का मामला बरेली के थाना बारादरी से सामने आया हैं बताते चले कि बरेली के  किला क्षेत्र के रहने वाले सलमान खान के मुताबिक उनका एक प्लाट थाना बारादरी क्षेत्र के रोहली टोला मे हैं उन्हीं के प्लाट के बराबर इमरान व नयाब खां उर्फ निम्मा का भी प्लाट हैं इसी प्लाट के बिल्कुल सामन