Skip to main content

नफरत की परिणति हिंसा और हत्या नहीं हो सकती।

 ( विवेकानंद, महात्मा गांधी के देश में हिंसा का तांडव)

बीरभूम जिले के रामपुराहाट में हुई भीषण हिंसक घटना सर्वथा निंदनीय है। यह घटना तुणमुल कांग्रेस के एक पंचायत स्तर के नेता भादू शेख की कथित हत्या के कुछ घंटों के भीतर ही घटित हुई है ।कुछ लोगों ने अपने नेता की हत्या के प्रतिशोध में मकानों में आग लगा दी एवं दरवाजे बाहर से बंद भी कर दिए थे। एजेंसियों के अनुसार आग लगाने की पूर्व घर में निवास कर रहे बच्चों तथा महिलाओं के साथ मारपीट भी की गई, उसके पश्चात मकानों को भीषण आग के हवाले कर दिया गया। जले हुए बच्चों तथा स्त्री ,पुरुषों की लाशें पोस्टमार्टम करने लायक भी नहीं बचे थे, केवल हड्डियों और राख ही बची थी। इतनी क्रूर हत्या किसी नफरत की परिणति नहीं हो सकती। लोगों के बीच इतनी नफरत सदैव निंदनीय है। पश्चिम बंगाल सांस्कृतिक और ऐतिहासिक रूप से शांति, सौहार्द, संस्कृति की धरोहर के रूप में माना जाता रहा है, रामकृष्ण परमहंस, विवेकानंद, रविंद्र नाथ टैगोर और इन सब से ऊपर उठकर अहिंसक महात्मा गांधी के देश में इतनी हिंसा मानवीय समझ से परे है। इन सब के ऊपर तृणमूल कांग्रेस और अन्य पार्टियों के बीच इस हत्या को लेकर राजनीति करण भी घोर निंदनीय है।
ऐसा प्रतीत होता है कि पश्चिम बंगाल में पूरी तरह हिंसा और अराजकता की संस्कृति ने अपना घर बना लिया है। पश्चिम बंगाल के इतिहास में सबसे भीषण नरसंहार को लेकर राजनेताओं की प्रतिक्रिया अत्यंत आश्चर्यजनक है। हत्या में राहत देने की बजाय वहां की सरकार ने बयान बाजी कर अपना पल्ला झाड़ना चाहा है। उन्होंने कहा की कुछ छोटी मोटी घटनाओं को छोड़कर पश्चिम बंगाल में कानून राज्य की व्यवस्था अत्यंत शांतिपूर्ण एवं व्यवस्थित है। वहां के राज्यपाल महोदय ने अपनी तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा के इस भीषण नरसंहार की स्थिति में राज्यपाल तथा राज भवन केवल मूकदर्शक बनकर नहीं रह सकता है। राज्यपाल ने वहां की सरकार को पत्र लिखकर कहा है की राजनीति से ऊपर उठकर मानवता के लिए तत्काल कार्रवाई की जानी चाहिए।
पश्चिम बंगाल में मानवाधिकारों की धज्जियां उड़ाई जा रही है, इस भीषण हत्याकांड से पूरा देश स्तब्ध एवं दुखी है। पश्चिम बंगाल के पुलिस के आला अधिकारी के अनुसार रामपुरहाट के बगदुइ गांव में तड़के सुबह 8 मकानों में आग लगा दी गई, जिसमें दो बच्चे और 8 लोगों की मौत हो गई। इस भीषण नफरत के खेल में बच्चों और महिलाओं का बालको क्या दोष हो सकता है,जो इस तरह इन अबोध लोगों की भी जघन्य हत्या कर दी गई।
हत्या के बाद वृहद स्तर पर होती अमानवीय तू तू, मैं मैं को लेकर जितनी निंदा की जाए उतनी ही कम है। राज्य शासन का इस हत्याकांड की जिम्मेदारी से बचने का प्रयास समझ से परे है, जबकि राज्य के संवैधानिक प्रमुख राज्यपाल महोदय ने इसमें तत्काल संज्ञान लेकर वहां की मुख्यमंत्री को पत्र लिख तत्काल कार्रवाई कर मुआवजा देने की मांग की है। वहां के राज्यपाल ने यहां तक कहा की घटना की जांच के लिए गठित है एसआईटी संदेह से परे नहीं है वह केवल घटना को कवर करने के लिए और अपराधियों को वहां से सुरक्षित निकालने की कोशिश कर रही है।
इस संदर्भ में माननीय कोलकाता हाई कोर्ट में भी हिंसा को लेकर संज्ञान लेते हुए सुनवाई कर 24 मार्च तक केस डायरी लाने के निर्देश प्रसारित किए थे । माननीय कोर्ट ने यह भी निर्देश दिए हैं कि क्राइम सीन पर 24 घंटे कैमरे की निगरानी रखी जानी चाहिए और कैमरे डिस्टिक जज की निगरानी में लगाए जाने चाहिए। मा,हाईकोर्ट के निर्देश पर ही संपूर्ण घटना की जांच सीबीआई द्वारा करवाई जा रही है। इतना भयानक तथा भीषण हत्याकांड संपूर्ण मानवता ही अंदर तक कांप गई है। माननीय हाईकोर्ट न्यायालय द्वारा स्वत संज्ञान लेकर इस घटना में अपनी रूचि दिखाकर सुनवाई प्रारंभ की है। यह घटना पश्चिम बंगाल के प्रशासन पर कई तरह के प्रश्न चिन्ह लगाती है, एवं उनके द्वारा किए जा रहे कार्यों पर संदेह की पैदा करती है।
संजीव ठाकुर संयोजक, चिंतक, लेखक, रायपुर छत्तीसगढ़, 9009 415 415  

Popular posts from this blog

*पिछड़ों अति पिछड़ों शूद्रों अछूतों तथाकथित जाति धर्म से आजादी की चाबी बाबा साहब का भारतीय संविधान-गादरे*

(हिन्दू-मुस्लिम के षड्यंत्रकारियो के जाल और कैद खाने से sc obc st minorities जंग लडो बेईमानो से मूल निवासी हो बाबा फुले और  भीमराव अम्बेडकर के सपनो को साकार करें--गादरे)* मेरठ:--बाबा ज्योति बा फुले और बाबा भीमराव अंबेडकर भारत रत्न ही नहीं विश्व रतन की जयंती पर हमें शपथ लेनी होगी की हिन्दू-मुस्लिम के षड्यंत्रकारियो के जाल और कैद खाने से sc obc st minorities जंग लडो बेईमानो से मूल निवासी हो बाबा फुले और भीमराव अम्बेडकर के सपनो को साकार करें। बहुजन मुक्ति पार्टी के आर डी गादरे ने महात्मा ज्योतिबा फुले और भारत रत्न डॉक्टर बाबा भीमराव अंबेडकर की जन्म जयंती के अवसर पर समस्त मूल निवासियों को हार्दिक शुभकामनाएं देते हुए आह्वान किया कि आज हम कुछ विदेशी षड्यंत्र कार्यों यहूदियों पूंजीपतियों अवसर वादियों फासीवादी लोगों के चंगुल से निकलने के लिए एक आजादी की लडाई लरनी होगी। आज भी आजाद होते हुए फंसे हुए हैं। डॉक्टर बाबा भीमराव अंबेडकर के लोकतंत्र और भारतीय संविधान को अपने हाथों से दुश्मन के चंगुल में परिस्थितियों को समझें। sc obc st MINORITIES खुद सर्वनाश करने पर लगे हुए हैं और आने वाली नस्लों को गु

*बहुजन मुक्ति पार्टी की राष्ट्रीय स्तर जनरल बॉडी बैठक मे बड़े स्तर पर फेरबदल प्रवेंद्र प्रताप राष्ट्रीय महासचिव आदि को 6 साल के लिए निष्कासित*

*(31 प्रदेश स्तरीय कमेटी भंग नये सिरे से 3 महिने मे होगा गठन)* नई दिल्ली:-बहुजन मुक्ति पार्टी राष्ट्रीय जनरल बॉडी की मीटिंग गड़वाल भवन पंचकुइया रोड़ नई दिल्ली में संपन्न हुई।  बहुजन मुक्ति पार्टी मीटिंग की अध्यक्षता  मा०वी०एल० मातंग साहब राष्ट्रीय अध्यक्ष बहुजन मुक्ति  पार्टी ने की और संचालन राष्ट्रीय महासचिव माननीय बालासाहेब पाटिल ने किया।  बहुजन मुक्ति पार्टी की जनरल ढांचे की बुलाई मीटिंग में पुरानी बॉडी में फेर बदल किया गया। मा वी एल मातंग ने स्वयं एलान किया की खुद स्वेच्छा से बहुजन मुक्ति पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे रहे हैं राजनीती से सन्यास और राष्ट्रीय स्तर पर बामसेफ प्रचारक का कार्य करते रहेंगे। राष्ट्रीय स्तर की जर्नल बॉडी की बैठक मे सर्व सम्मत्ती से राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद पर पूर्व कार्यकारी अध्यक्ष जे एस कश्यप को राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद पर चुना गया। राष्ट्रीय उपाध्यक्ष के लिए मा वैकटेस लांमबाड़ा, मा हिरजीभाई सम्राट, डी राम देसाई, राष्ट्रीय महासचिव के पद पर मा बालासाहब मिसाल पाटिल, मा डॉ एस अकमल, माननीय एडवोकेट आयुष्मति सुमिता पाटिल, माननीय एडवोकेट नरेश कुमार,

थाना अमरिया पुलिस द्वारा 04 अभियुक्तों को 68 किलोग्राम डोडा पोस्ता व डोडा चूरा सहित किया गिरफ्तार

 पीलीभीत के थाना अमरिया में आज दिनांक 05.09.2022 को थाना अमरिया जनपद पीलीभीत पुलिस द्वारा पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार प्रभु जनपद पीलीभीत के निर्देशन में व  अपर पुलिस अधीक्षक महोदय जनपद पीलीभीत व क्षेत्राधिकारी सदर महोदय जनपद पीलीभीत के कुशल नेतृत्व में अपराधियों के विरुद्ध जनपद में मादक पदार्थ व जहरीली शराब की तस्करी व रोकथाम हेतु चलाये जा रहे अभियान के तहत  थाना अमरिया पुलिस द्वारा 02 अभियुक्तगणों 1.महेश कुमार गुप्ता पुत्र ओमप्रकाश निवासी कस्बा व थाना अमरिया जनपद पीलीभीत व  2.रवि गुप्ता पुत्र महेश गुप्ता निवासी कस्बा व थाना अमरिया जनपद पीलीभीत को उनके घर के पास से गिरफ्तार किया गया तथा इनके कब्जे से मादक पदार्थ 31 किलोग्राम ( डोडा पोस्ता व डोडा चूरा ) बरामद हुआ गिरफ्तार किए गये अभियुक्तगणों से गहनता से पूछताछ के दौरान उन्होनों बरामद मादक पदार्थों को  अभियुक्त प्रमोद गुप्ता पुत्र मटरु लाल निवासी ग्राम देवचरा थाना भमौरा जनपद बरेली व अभियुक्त विनोद कुमार गुप्ता पुत्र मटरु लाल निवासी ग्राम देवचरा थाना भमौरा जनपद बरेली से खरीद कर लाना बताया इस पूछताछ के दौरान प्रकाश में आये अभियुक्त प्रमोद