Skip to main content

भारत छोड़ो आन्दोलन

 1939 में दूसरा विश्वयुद्ध छिड़ गया। आरम्भ में जर्मनी का पल्ला भारी था। युद्ध में जापानी फौजें बढ़ती चली जा रही थी। भारत जापानी आक्रमण से बच न सका। कलकत्ता पर बम फर्क गए और ब्रिटिश साम्राज्य के भी कदम लड़खड़ाने लगे।महात्मा गांधी ने सोचा कि यदि अंग्रेज़ इस समय भारत छोड़ जाएं तो यह जापानियों के हमले से बच जायेगा। इसलिए उन्होंने “भारत छोड़ो' आंदोलन प्रारम्भ किया।


8 अगस्त, 1942 को कांग्रेस के अधिवेशन में"भारत छोड़ो' का प्रस्ताव पास किया गया और अंग्रेज़ सरकार से कहा गया कि वह शीघ्र से शीघ्र भारत छोड़ दें क्योंकि देश का लाभ इसी में है। अघिवेिशन में महात्मा गांधी को इस बात का अधिकार दिया गया कि वे देश में असहयोग आंदोलन आरम्भ कर सकते हैं। और आंदोलन आरम्भ करने से पूर्व वायसराय को एक पत्र लिखें और उनके उत्तर की प्रतीक्षा करें। इससे पूर्व कि गांधी जी पत्र लिखें, सरकार ने इस आंदोलन को दबाने के लिए दमनकारी कार्यवाही शुरू कर दी। उसी समय गांधी जी ने देशवासियों से “करो या मरो'' मंत्र का आहान किया। 9 अगस्त की सुबह बड़े-बड़े नेता गिरफ्तार कर लिए गए। ब्रिटिश सरकार ने सर स्टेफर्ड क्रीप्स (Sir Stephed Crips) को कांग्रेस से समझौता करने के लिए भेजा। किन्तु उसका कोई विशेष परिणाम नहीं निकला। मध्य अगस्त में यह आंदोलन भारत के प्रान्तों, बिहार, उत्तर प्रदेश,महाराष्ट्र, बंगाल और आसाम तक फैल गया। अंग्रेजों ने इस आंदोलन को कुचलने के लिए दमनकारी तरीके अपनाये। जवाहर लाल नेहरू के अनुसार साठ हजार आदमी गिरफ्तार किए गए। दस हज़ार आदमियों को मार डाला गया।

दिल्ली में भारत छोड़ो आन्दोलन

जुगल किशोर खन्ना सचिव दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने अपनी रिपोर्ट में लिखा है:8 अगस्त, 1942 को भारत छोड़ो आंदोलन के समय दिल्ली में पुलिस और फौज ने 12 बार गोलियाँ चलाई जिससे 150 लोग मारे गए। 2000 लोगों को जिसमें अधिकतर महिलाएं थीं, अलग-अलग अपराधों में गिरफ्तार किया गया या बिना मुकदमा चलाये नज़रबंद कर दिया गया।

प्रस्तुति : एस ए बेताब संपादक "बेताब समाचार एक्सप्रेस"



Popular posts from this blog

*पिछड़ों अति पिछड़ों शूद्रों अछूतों तथाकथित जाति धर्म से आजादी की चाबी बाबा साहब का भारतीय संविधान-गादरे*

(हिन्दू-मुस्लिम के षड्यंत्रकारियो के जाल और कैद खाने से sc obc st minorities जंग लडो बेईमानो से मूल निवासी हो बाबा फुले और  भीमराव अम्बेडकर के सपनो को साकार करें--गादरे)* मेरठ:--बाबा ज्योति बा फुले और बाबा भीमराव अंबेडकर भारत रत्न ही नहीं विश्व रतन की जयंती पर हमें शपथ लेनी होगी की हिन्दू-मुस्लिम के षड्यंत्रकारियो के जाल और कैद खाने से sc obc st minorities जंग लडो बेईमानो से मूल निवासी हो बाबा फुले और भीमराव अम्बेडकर के सपनो को साकार करें। बहुजन मुक्ति पार्टी के आर डी गादरे ने महात्मा ज्योतिबा फुले और भारत रत्न डॉक्टर बाबा भीमराव अंबेडकर की जन्म जयंती के अवसर पर समस्त मूल निवासियों को हार्दिक शुभकामनाएं देते हुए आह्वान किया कि आज हम कुछ विदेशी षड्यंत्र कार्यों यहूदियों पूंजीपतियों अवसर वादियों फासीवादी लोगों के चंगुल से निकलने के लिए एक आजादी की लडाई लरनी होगी। आज भी आजाद होते हुए फंसे हुए हैं। डॉक्टर बाबा भीमराव अंबेडकर के लोकतंत्र और भारतीय संविधान को अपने हाथों से दुश्मन के चंगुल में परिस्थितियों को समझें। sc obc st MINORITIES खुद सर्वनाश करने पर लगे हुए हैं और आने वाली नस्लों को गु

*बहुजन मुक्ति पार्टी की राष्ट्रीय स्तर जनरल बॉडी बैठक मे बड़े स्तर पर फेरबदल प्रवेंद्र प्रताप राष्ट्रीय महासचिव आदि को 6 साल के लिए निष्कासित*

*(31 प्रदेश स्तरीय कमेटी भंग नये सिरे से 3 महिने मे होगा गठन)* नई दिल्ली:-बहुजन मुक्ति पार्टी राष्ट्रीय जनरल बॉडी की मीटिंग गड़वाल भवन पंचकुइया रोड़ नई दिल्ली में संपन्न हुई।  बहुजन मुक्ति पार्टी मीटिंग की अध्यक्षता  मा०वी०एल० मातंग साहब राष्ट्रीय अध्यक्ष बहुजन मुक्ति  पार्टी ने की और संचालन राष्ट्रीय महासचिव माननीय बालासाहेब पाटिल ने किया।  बहुजन मुक्ति पार्टी की जनरल ढांचे की बुलाई मीटिंग में पुरानी बॉडी में फेर बदल किया गया। मा वी एल मातंग ने स्वयं एलान किया की खुद स्वेच्छा से बहुजन मुक्ति पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे रहे हैं राजनीती से सन्यास और राष्ट्रीय स्तर पर बामसेफ प्रचारक का कार्य करते रहेंगे। राष्ट्रीय स्तर की जर्नल बॉडी की बैठक मे सर्व सम्मत्ती से राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद पर पूर्व कार्यकारी अध्यक्ष जे एस कश्यप को राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद पर चुना गया। राष्ट्रीय उपाध्यक्ष के लिए मा वैकटेस लांमबाड़ा, मा हिरजीभाई सम्राट, डी राम देसाई, राष्ट्रीय महासचिव के पद पर मा बालासाहब मिसाल पाटिल, मा डॉ एस अकमल, माननीय एडवोकेट आयुष्मति सुमिता पाटिल, माननीय एडवोकेट नरेश कुमार,

थाना अमरिया पुलिस द्वारा 04 अभियुक्तों को 68 किलोग्राम डोडा पोस्ता व डोडा चूरा सहित किया गिरफ्तार

 पीलीभीत के थाना अमरिया में आज दिनांक 05.09.2022 को थाना अमरिया जनपद पीलीभीत पुलिस द्वारा पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार प्रभु जनपद पीलीभीत के निर्देशन में व  अपर पुलिस अधीक्षक महोदय जनपद पीलीभीत व क्षेत्राधिकारी सदर महोदय जनपद पीलीभीत के कुशल नेतृत्व में अपराधियों के विरुद्ध जनपद में मादक पदार्थ व जहरीली शराब की तस्करी व रोकथाम हेतु चलाये जा रहे अभियान के तहत  थाना अमरिया पुलिस द्वारा 02 अभियुक्तगणों 1.महेश कुमार गुप्ता पुत्र ओमप्रकाश निवासी कस्बा व थाना अमरिया जनपद पीलीभीत व  2.रवि गुप्ता पुत्र महेश गुप्ता निवासी कस्बा व थाना अमरिया जनपद पीलीभीत को उनके घर के पास से गिरफ्तार किया गया तथा इनके कब्जे से मादक पदार्थ 31 किलोग्राम ( डोडा पोस्ता व डोडा चूरा ) बरामद हुआ गिरफ्तार किए गये अभियुक्तगणों से गहनता से पूछताछ के दौरान उन्होनों बरामद मादक पदार्थों को  अभियुक्त प्रमोद गुप्ता पुत्र मटरु लाल निवासी ग्राम देवचरा थाना भमौरा जनपद बरेली व अभियुक्त विनोद कुमार गुप्ता पुत्र मटरु लाल निवासी ग्राम देवचरा थाना भमौरा जनपद बरेली से खरीद कर लाना बताया इस पूछताछ के दौरान प्रकाश में आये अभियुक्त प्रमोद