Skip to main content

उत्तराखंड सरकार की हठधर्मिता से परेशान होकर उत्तराखंड की आम जनता एवं मरीजों के नाम खुला पत्र|

 मुस्तकीम मंसूरी की रिपोर्ट

आप सभी उत्तराखंड की आम जनता एवं सभी मरीजों को हम लाचार नर्सेज का सादर प्रणाम

हम आपको बताना चाहते हैं कि राज्य सरकार की असंवेदनशीलता एवं अनदेखी,साथ ही आप सभी उत्तराखंड के नागरिकों के अनजान होने के कारण हम पिछले 50 दिन से हल्द्वानी बुद्ध पार्क तिकोनिया में धरने पर बैठे हैं,हम आपको बताना चाहते हैं कि जब उत्तराखंड का कोई भी नागरिक चाहे वह किसी धर्म अथवा किसी भी जाति का हो बीमार होकर अस्पताल पहुंचता है तो हम नर्स ही सबसे अधिक समय उसको देते हैं,उसकी सेवा करते है कई गंभीर बीमारियां जोकि संक्रमण के द्वारा फैलती हैं,उस समय भी अपनी जान की परवाह किए बिना हम आप लोगों का इलाज करते हैं 

अभी कुछ समय पहले की ही बात है जब एक अदृश्य शत्रु कोरोना ने पूरे प्रदेश सहित देश भर में आतंक मचाया हुआ था जब मानवता मर चुकी थी,जब अपने अपनों से दूरियां बना चुके थे तो उस समय भी अपनी जान को गिरवी रख कर हम लोगों ने आप लोगों की जान बचाने का काम किया,ध्यान रहे लाखों-करोड़ों की वैल्यू कोरोना के सामने बहुत कमजोर थी

हमें कई बार कोरोना हुआ,हमारे कई साथी आप लोगों की सेवा करते करते शहीद हो गए,लेकिन फिर भी हमने अपने कर्तव्य को पूरी निष्ठा के साथ निभाया,हमारे परिवार में भी हमारे माता-पिता थे,हमारे बच्चे थे हमारे भाई बहन थे,जिस तरह आप लोग घरों में छुप कर बैठे हुए थे यदि हम चाहते तो हम भी घरों में मैं बैठ सकते थे,लेकिन हमने ऐसा नहीं किया क्योंकि यदि हम ऐसा करते तो पता नहीं कितने लोगों की जान चली जाती 

हम आपको बताना चाहते हैं कि राज्य सरकार उत्तराखंड द्वारा 12 दिसंबर 2020 को 2621 पदों पर स्टाफ नर्स की भर्ती हेतु विज्ञप्ति जारी की गई,जिसकी नियुक्ति आज तक नहीं हो पाई है हम जानते हैं हमारे परिवारजनों ने कितने कष्ट सहकर हमें नर्सिंग का कोर्स कराया,इस उम्मीद के साथ कल हमारी नौकरी लगेगी हमारा भविष्य अच्छा होगा 

जब कोरोना से संघर्ष पूरा देश कर रहा था उस समय यही सरकार ने हमसे पूरा सहयोग लिया,ताकि देश कोरोनावायरस से जीत पाए 

लेकिन आज 50 दिन से हम लगातार अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे हुए हैं,भूख हड़ताल पर बैठे हैं,लेकिन राज्य सरकार ने अपनी आंखें बंद करी हुई है,ना सिर्फ राज्य सरकार बल्कि आम जनता ने भी हमसे मुंह मोड़ा हुआ है 





आखिर ऐसा क्यों? 

सवाल राज्य सरकार से है और आम जनता अब आपसे भी है


जब आप लाचार होते हो तो हम याद आते हैं,हम काम आते हैं लेकिन आज जब आप लोगों की हमें जरूरत है,आपने क्यों मानवता खत्म करी हुई है? 

हम सभी लाचार नर्सेज आप सभी से निवेदन करते हैं कि कृपया हमारा सहयोग कीजिए,हमारा साथ दीजिए,राज्य सरकार तक हमारी आवाज पहुंचाएं 

क्योंकि अस्पतालों में हमारी भर्तियां नहीं हुई तो आप लोगों को भी अच्छा इलाज कभी नहीं मिल पाएगा,यह लड़ाई सिर्फ हम नर्सेज की नहीं है,आप लोगों के स्वास्थ्य के मौलिक अधिकार की भी है आप लोगों को अच्छा इलाज मिल सके इसकी भी है और आज भी इस संदेश को पढ़कर आप उत्तराखंड के नागरिक नहीं जगे तो कल ना सिर्फ हमारा भविष्य खराब है बल्कि प्रत्येक नागरिक का भविष्य खराब है,क्योंकि एक उम्र के बाद इलाज के लिए हर किसी को अस्पताल जाना है।

Popular posts from this blog

थाना अमरिया पुलिस द्वारा 04 अभियुक्तों को 68 किलोग्राम डोडा पोस्ता व डोडा चूरा सहित किया गिरफ्तार

 पीलीभीत के थाना अमरिया में आज दिनांक 05.09.2022 को थाना अमरिया जनपद पीलीभीत पुलिस द्वारा पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार प्रभु जनपद पीलीभीत के निर्देशन में व  अपर पुलिस अधीक्षक महोदय जनपद पीलीभीत व क्षेत्राधिकारी सदर महोदय जनपद पीलीभीत के कुशल नेतृत्व में अपराधियों के विरुद्ध जनपद में मादक पदार्थ व जहरीली शराब की तस्करी व रोकथाम हेतु चलाये जा रहे अभियान के तहत  थाना अमरिया पुलिस द्वारा 02 अभियुक्तगणों 1.महेश कुमार गुप्ता पुत्र ओमप्रकाश निवासी कस्बा व थाना अमरिया जनपद पीलीभीत व  2.रवि गुप्ता पुत्र महेश गुप्ता निवासी कस्बा व थाना अमरिया जनपद पीलीभीत को उनके घर के पास से गिरफ्तार किया गया तथा इनके कब्जे से मादक पदार्थ 31 किलोग्राम ( डोडा पोस्ता व डोडा चूरा ) बरामद हुआ गिरफ्तार किए गये अभियुक्तगणों से गहनता से पूछताछ के दौरान उन्होनों बरामद मादक पदार्थों को  अभियुक्त प्रमोद गुप्ता पुत्र मटरु लाल निवासी ग्राम देवचरा थाना भमौरा जनपद बरेली व अभियुक्त विनोद कुमार गुप्ता पुत्र मटरु लाल निवासी ग्राम देवचरा थाना भमौरा जनपद बरेली से खरीद कर लाना बताया इस पूछताछ के दौरान प्रकाश में आये अभियुक्त प्रमोद

*बहुजन मुक्ति पार्टी की राष्ट्रीय स्तर जनरल बॉडी बैठक मे बड़े स्तर पर फेरबदल प्रवेंद्र प्रताप राष्ट्रीय महासचिव आदि को 6 साल के लिए निष्कासित*

*(31 प्रदेश स्तरीय कमेटी भंग नये सिरे से 3 महिने मे होगा गठन)* नई दिल्ली:-बहुजन मुक्ति पार्टी राष्ट्रीय जनरल बॉडी की मीटिंग गड़वाल भवन पंचकुइया रोड़ नई दिल्ली में संपन्न हुई।  बहुजन मुक्ति पार्टी मीटिंग की अध्यक्षता  मा०वी०एल० मातंग साहब राष्ट्रीय अध्यक्ष बहुजन मुक्ति  पार्टी ने की और संचालन राष्ट्रीय महासचिव माननीय बालासाहेब पाटिल ने किया।  बहुजन मुक्ति पार्टी की जनरल ढांचे की बुलाई मीटिंग में पुरानी बॉडी में फेर बदल किया गया। मा वी एल मातंग ने स्वयं एलान किया की खुद स्वेच्छा से बहुजन मुक्ति पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे रहे हैं राजनीती से सन्यास और राष्ट्रीय स्तर पर बामसेफ प्रचारक का कार्य करते रहेंगे। राष्ट्रीय स्तर की जर्नल बॉडी की बैठक मे सर्व सम्मत्ती से राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद पर पूर्व कार्यकारी अध्यक्ष जे एस कश्यप को राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद पर चुना गया। राष्ट्रीय उपाध्यक्ष के लिए मा वैकटेस लांमबाड़ा, मा हिरजीभाई सम्राट, डी राम देसाई, राष्ट्रीय महासचिव के पद पर मा बालासाहब मिसाल पाटिल, मा डॉ एस अकमल, माननीय एडवोकेट आयुष्मति सुमिता पाटिल, माननीय एडवोकेट नरेश कुमार,

*पिछड़ों अति पिछड़ों शूद्रों अछूतों तथाकथित जाति धर्म से आजादी की चाबी बाबा साहब का भारतीय संविधान-गादरे*

(हिन्दू-मुस्लिम के षड्यंत्रकारियो के जाल और कैद खाने से sc obc st minorities जंग लडो बेईमानो से मूल निवासी हो बाबा फुले और  भीमराव अम्बेडकर के सपनो को साकार करें--गादरे)* मेरठ:--बाबा ज्योति बा फुले और बाबा भीमराव अंबेडकर भारत रत्न ही नहीं विश्व रतन की जयंती पर हमें शपथ लेनी होगी की हिन्दू-मुस्लिम के षड्यंत्रकारियो के जाल और कैद खाने से sc obc st minorities जंग लडो बेईमानो से मूल निवासी हो बाबा फुले और भीमराव अम्बेडकर के सपनो को साकार करें। बहुजन मुक्ति पार्टी के आर डी गादरे ने महात्मा ज्योतिबा फुले और भारत रत्न डॉक्टर बाबा भीमराव अंबेडकर की जन्म जयंती के अवसर पर समस्त मूल निवासियों को हार्दिक शुभकामनाएं देते हुए आह्वान किया कि आज हम कुछ विदेशी षड्यंत्र कार्यों यहूदियों पूंजीपतियों अवसर वादियों फासीवादी लोगों के चंगुल से निकलने के लिए एक आजादी की लडाई लरनी होगी। आज भी आजाद होते हुए फंसे हुए हैं। डॉक्टर बाबा भीमराव अंबेडकर के लोकतंत्र और भारतीय संविधान को अपने हाथों से दुश्मन के चंगुल में परिस्थितियों को समझें। sc obc st MINORITIES खुद सर्वनाश करने पर लगे हुए हैं और आने वाली नस्लों को गु