Skip to main content

माताजी के तीर्थ विकास संवर्धन वन संरक्षण के क्रम में अब शाश्वत तीर्थ क्षेत्र अयोध्या की बारी है, सभी तीर्थ के नव निर्माण हेतु शिलाओं की धनराशि संचय करने में सहयोग करें|

 माताजी के तीर्थ विकास संवर्धन वन संरक्षण के क्रम में अब शाश्वत तीर्थ क्षेत्र अयोध्या की बारी है, सभी तीर्थ के नव निर्माण हेतु शिलाओं की धनराशि संचय करने में सहयोग करें|

बरेली से मुस्तकीम मंसूरी की रिपोर्ट, 

विश्व की सबसे ऊंची 108 फीट की मांगीतुंगी, महाराष्ट्र में स्थापित भगवान ऋषभदेव की प्रतिमा की स्थापना की प्रेरणा हो|

बरेली,आज युग प्रवर्तिका, आर्यिका शिरोमणि, विश्व प्रसिद्ध परम पूज्य 105 श्री ज्ञानमती माता जी के हस्तिनापुर तीर्थ क्षेत्र से शाश्वत तीर्थ क्षेत्र अयोध्या के लिए महा मंगल विहार की सूचना बरेली के जैन श्रद्धालुओं को जब हुई तो उन्होंने पूज्य माता जी से प्रार्थना की कि बरेली वासियों को भी उनके ज्ञान और सानिध्य कि कुछ अमृत बूंदें उन पर भी बरसाने की कृपा करें। उनके स्नेह निवेदन को स्वीकार करते हुए माता जी आज बरेली में थी।

अपने आशीर्वचनो में पूज्य माता जी ने कहा कि भारत वर्ष का नाम जैन धर्म के प्रथम तीर्थंकर भगवान ऋषभदेव के पुत्र भरत के नाम पर रखा गया है, इसके 22 जैन व जैनेतर प्रमाण भी प्रस्तुत किए गए हैं, उन्होंने आगे कहा की पुरुषोत्तम श्री राम व उनके परिवार के आदर्श ही भारतीय संस्कृति के द्योतक है, उन्होंने आगे बताया कि शाश्वत तीर्थ क्षेत्र अयोध्या 5 तीर्थंकरों की जन्मभूमि भी है, उसका विकास, संवर्धन व संरक्षण, भविष्य हेतु संस्कृति का संरक्षण है।

अहिंसा परमो धर्मा: भारतीय संस्कृति की पृष्ठभूमि में है और शाकाहार इसकी प्रमुख कड़ी है, हमें शाकाहार को समाज में प्रसारित व प्रचारित करते रहना है। उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा कि साधु मांग नहीं करते, वह मौन रहते हैं, किंतु कुतुबमीनार में जैन मूर्तियां मिल रही है, ऐसे में शासन को सोचना होगा। उन्होंने अपने हाल की पुस्तक भरत से भारत भी सभी को आशीर्वाद के रूप में दी।

आयोजन के मीडिया प्रभारी सौरभ जैन ने कहा कि पूज्य माता जी के कार्य विश्व भर में जाने जाते हैं, वह चाहे हस्तिनापुर स्थित जम्बूदीप की रचना हो या गिनीज बुक में दर्ज विश्व की सबसे ऊंची 108 फीट की मांगीतुंगी, महाराष्ट्र में स्थापित भगवान ऋषभदेव की प्रतिमा की स्थापना की प्रेरणा हो।

श्री महावीर निर्वाण समिति के अध्यक्ष सुरेंद्र कुमार जैन ने कहा कि माताजी के तीर्थ विकास, संवर्धन व संरक्षण के क्रम में अब शाश्वत तीर्थ क्षेत्र अयोध्या की बारी है, उन्होंने आगे कहा कि इस हेतु सभी तीर्थ के नवनिर्माण हेतु शिलाओं की धनराशि संचय करने में सहयोग करें।

समिति के मंत्री सत्येंद्र जैन जी ने कहा कि पूज्य माता जी लगभग 500 ग्रंथों की रचयिता या अनुवादक हैं, वो 6 भाषाओं पर अच्छी पकड़ के साथ 2 विश्वविद्यालयों से डी.लिट. की उपाधि प्राप्त हैं। कोषाध्यक्ष सतीश चंद्र जैन ने कहा कि पूज्य माताजी की प्रेरणा से बने हस्तिनापुर स्थित जंबूदीप ज्ञान ज्योति का उद्घाटन तत्कालीन प्रधानमंत्री श्रीमती इंदिरा गांधी जी ने 1982 में किया था। उन्होंने आगे बताया कि पूज्य माताजी को 1 दर्जन से अधिक उपाधियों से विभूषित किया जा चुका है और 14 नवंबर 2021 को उनका पदार्पण महामहिम राष्ट्रपति जी के आमंत्रण पर राष्ट्रपति भवन में हुआ था।

Popular posts from this blog

थाना अमरिया पुलिस द्वारा 04 अभियुक्तों को 68 किलोग्राम डोडा पोस्ता व डोडा चूरा सहित किया गिरफ्तार

 पीलीभीत के थाना अमरिया में आज दिनांक 05.09.2022 को थाना अमरिया जनपद पीलीभीत पुलिस द्वारा पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार प्रभु जनपद पीलीभीत के निर्देशन में व  अपर पुलिस अधीक्षक महोदय जनपद पीलीभीत व क्षेत्राधिकारी सदर महोदय जनपद पीलीभीत के कुशल नेतृत्व में अपराधियों के विरुद्ध जनपद में मादक पदार्थ व जहरीली शराब की तस्करी व रोकथाम हेतु चलाये जा रहे अभियान के तहत  थाना अमरिया पुलिस द्वारा 02 अभियुक्तगणों 1.महेश कुमार गुप्ता पुत्र ओमप्रकाश निवासी कस्बा व थाना अमरिया जनपद पीलीभीत व  2.रवि गुप्ता पुत्र महेश गुप्ता निवासी कस्बा व थाना अमरिया जनपद पीलीभीत को उनके घर के पास से गिरफ्तार किया गया तथा इनके कब्जे से मादक पदार्थ 31 किलोग्राम ( डोडा पोस्ता व डोडा चूरा ) बरामद हुआ गिरफ्तार किए गये अभियुक्तगणों से गहनता से पूछताछ के दौरान उन्होनों बरामद मादक पदार्थों को  अभियुक्त प्रमोद गुप्ता पुत्र मटरु लाल निवासी ग्राम देवचरा थाना भमौरा जनपद बरेली व अभियुक्त विनोद कुमार गुप्ता पुत्र मटरु लाल निवासी ग्राम देवचरा थाना भमौरा जनपद बरेली से खरीद कर लाना बताया इस पूछताछ के दौरान प्रकाश में आये अभियुक्त प्रमोद

*बहुजन मुक्ति पार्टी की राष्ट्रीय स्तर जनरल बॉडी बैठक मे बड़े स्तर पर फेरबदल प्रवेंद्र प्रताप राष्ट्रीय महासचिव आदि को 6 साल के लिए निष्कासित*

*(31 प्रदेश स्तरीय कमेटी भंग नये सिरे से 3 महिने मे होगा गठन)* नई दिल्ली:-बहुजन मुक्ति पार्टी राष्ट्रीय जनरल बॉडी की मीटिंग गड़वाल भवन पंचकुइया रोड़ नई दिल्ली में संपन्न हुई।  बहुजन मुक्ति पार्टी मीटिंग की अध्यक्षता  मा०वी०एल० मातंग साहब राष्ट्रीय अध्यक्ष बहुजन मुक्ति  पार्टी ने की और संचालन राष्ट्रीय महासचिव माननीय बालासाहेब पाटिल ने किया।  बहुजन मुक्ति पार्टी की जनरल ढांचे की बुलाई मीटिंग में पुरानी बॉडी में फेर बदल किया गया। मा वी एल मातंग ने स्वयं एलान किया की खुद स्वेच्छा से बहुजन मुक्ति पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे रहे हैं राजनीती से सन्यास और राष्ट्रीय स्तर पर बामसेफ प्रचारक का कार्य करते रहेंगे। राष्ट्रीय स्तर की जर्नल बॉडी की बैठक मे सर्व सम्मत्ती से राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद पर पूर्व कार्यकारी अध्यक्ष जे एस कश्यप को राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद पर चुना गया। राष्ट्रीय उपाध्यक्ष के लिए मा वैकटेस लांमबाड़ा, मा हिरजीभाई सम्राट, डी राम देसाई, राष्ट्रीय महासचिव के पद पर मा बालासाहब मिसाल पाटिल, मा डॉ एस अकमल, माननीय एडवोकेट आयुष्मति सुमिता पाटिल, माननीय एडवोकेट नरेश कुमार,

*पिछड़ों अति पिछड़ों शूद्रों अछूतों तथाकथित जाति धर्म से आजादी की चाबी बाबा साहब का भारतीय संविधान-गादरे*

(हिन्दू-मुस्लिम के षड्यंत्रकारियो के जाल और कैद खाने से sc obc st minorities जंग लडो बेईमानो से मूल निवासी हो बाबा फुले और  भीमराव अम्बेडकर के सपनो को साकार करें--गादरे)* मेरठ:--बाबा ज्योति बा फुले और बाबा भीमराव अंबेडकर भारत रत्न ही नहीं विश्व रतन की जयंती पर हमें शपथ लेनी होगी की हिन्दू-मुस्लिम के षड्यंत्रकारियो के जाल और कैद खाने से sc obc st minorities जंग लडो बेईमानो से मूल निवासी हो बाबा फुले और भीमराव अम्बेडकर के सपनो को साकार करें। बहुजन मुक्ति पार्टी के आर डी गादरे ने महात्मा ज्योतिबा फुले और भारत रत्न डॉक्टर बाबा भीमराव अंबेडकर की जन्म जयंती के अवसर पर समस्त मूल निवासियों को हार्दिक शुभकामनाएं देते हुए आह्वान किया कि आज हम कुछ विदेशी षड्यंत्र कार्यों यहूदियों पूंजीपतियों अवसर वादियों फासीवादी लोगों के चंगुल से निकलने के लिए एक आजादी की लडाई लरनी होगी। आज भी आजाद होते हुए फंसे हुए हैं। डॉक्टर बाबा भीमराव अंबेडकर के लोकतंत्र और भारतीय संविधान को अपने हाथों से दुश्मन के चंगुल में परिस्थितियों को समझें। sc obc st MINORITIES खुद सर्वनाश करने पर लगे हुए हैं और आने वाली नस्लों को गु