Skip to main content

सपा महिला सभा की जिलाध्यक्ष शांति सिंह ने भोजीपुरा व बहेड़ी विधानसभा क्षेत्रों का दौरा कर कार्यकर्ताओं के साथ बैठक की।

 

रिपोर्ट-रामेश्वरी देवी

सपा महिला सभा की अध्यक्ष शान्ति सिंह महिला आरक्षण बिल  पर बोली नारी शक्ति को न्याय के लिए 2034 तक सरकार चौखट पर खड़ा रहना होगा।

बहेड़ी/बरेली, समाजवादी पार्टी महिला सभा की जिलाध्यक्ष शान्ति सिंह सपा सुप्रीमो पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव एवं सपा महिला सभा की प्रदेश अध्यक्ष रीबू श्रीवास्तव के निर्देशानुसार लोकसभा चुनाव 2024 की तैयारी के संबंध में विधानसभा वार संगठन की समीक्षा एवं विधानसभा वार महिला सभा की कार्यकर्ताओं की बैठक लेने हेतु आज भोजीपुरा विधानसभा क्षेत्र एवं नगर पंचायत देवरनिया व बहेड़ी विधानसभा क्षेत्रों में कार्यकर्ताओं एवं विधानसभा अध्यक्षों के


साथ बैठकें कर सभी कार्यकर्ताओं से चुनावी तैयारी में जुटाना एवं सपा की नीतियों को जन-जन तक पहुंचाने, बूथ स्तर तक महिला सभा के संगठन को मजबूत करने एवं भाजपा सरकार की जन विरोधी नीतियों से आमजन को अवगत कराने के संबंध में विस्तार पूर्वक चर्चा करते हुए श्रीमती शांति सिंह ने कहा कि भाजपा सरकार में कमर तोड़ महंगाई, भ्रष्टाचार, नारी उत्पीड़न और अत्याचार चरम पर पहुंच चुका है पूरे प्रदेश में त्राह-त्राहि मची हुई है, पेट्रोल, डीजल, गैस एवं घरेलू सामानों की महंगाई ने महिलाओं की रसोई का बजट बिगाड़ दिया है। सपा महिला सभा की जिला अध्यक्ष श्रीमती शांति सिंह ने बहेड़ी विधानसभा क्षेत्र के भ्रमण के दौरान बहेड़ी नगर विधानसभा अध्यक्ष नासिर रज़ा, अफसाना, रेशमा, रुखसाना, नसीम बानो, रेहाना आदि के साथ ग्राम सुकटिया आदि का भ्रमण कर सपा की नीतियों से अवगत कराते हुए कहा कि सपा की सरकार में प्रदेश का चौमुखी विकास हो रहा था, जो योगी सरकार में पूरी तरह रुक गया है इसलिए सत्ता परिवर्तन में महिलाओं की भूमिका महत्वपूर्ण होगी। विभिन्न क्षेत्रों के भ्रमण के बाद सपा महिला सभा की जिला अध्यक्ष शान्ति सिंह ने बहेड़ी में पत्रकारों से वार्ता करते हुए कहा की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सत्ता संभालने के 9 वर्षों के बाद महिला आरक्षण बिल का फायदा 2024 लोकसभा चुनाव में उठाने के उद्देश्य से लाए हैं, जिसका समर्थन देश के समूचे विपक्ष ने भी किया था। परंतु नारी शक्ति को न्याय के लिए 2034 तक सरकार की चौखट पर खड़ा रहना होगा। श्रीमती शांन्ति सिंह ने कहा कि मोदी सरकार को अब नया संविधान संशोधन लाकर उस रोक को हटाना पड़ेगा, जो 2001 में वाजपेई सरकार ने 84 वां संविधान संशोधन के माध्यम से आर्टिकल 81 (3) में बदलाव कर दिया था। इस संशोधन के अनुसार जनगणना आधारित परिसीमन पर 2026 तक रोक लगा दी गई है। अर्थात 2031 से पहले कोई परिसीमन संभव नहीं होगा। नई जनगणना 2031 के परिणाम आने में 2 से 3 साल लग जाएंगे। यदि मोदी सरकार जनगणना को परिसीमन से संबद्ध रखती है, जैसा कि बिल में लिखा है। तो वर्तमान महिला आरक्षण विधेयक 2034 चुनाव से पूर्व लागू नहीं हो पाएगा। ऐसी स्थिति में नारी शक्ति को न्याय के लिए 2034 तक सरकार की चौखट पर खड़ा रहना होगा। श्रीमती शांन्ति सिंह ने कहा की महिलाओं को महिला आरक्षण बिल के नाम पर मोदी सरकार एक बार फिर गुमराह कर वोट हथियाने का काम कर रही है। उन्होंने कहा मैं सभी जागरूक महिलाओं का आवाहन करती हूं कि वह भाजपा नेताओं से एक ही सवाल करें की भाजपा स्पष्ट करें की महिला आरक्षण बिल कब लागू होगा।

Popular posts from this blog

भारतीय संस्कृति और सभ्यता को मुस्लिमों से नहीं ऊंच-नीच करने वाले षड्यंत्रकारियों से खतरा-गादरे

मेरठ:-भारतीय संस्कृति और सभ्यता को मुस्लिमों से नहीं ऊंच-नीच करने वाले षड्यंत्रकारियों से खतरा। Raju Gadre राजुद्दीन गादरे सामाजिक एवं राजनीतिक कार्यकर्ता ने भारतीयों में पनप रही द्वेषपूर्ण व्यवहार आपसी सौहार्द पर अफसोस जाहिर किया और अपने वक्तव्य में कहा कि देश की जनता को गुमराह कर देश की जीडीपी खत्म कर दी गई रोजगार खत्म कर दिये  महंगाई बढ़ा दी शिक्षा से दूर कर पाखंडवाद अंधविश्वास बढ़ाया जा रहा है। षड्यंत्रकारियो की क्रोनोलोजी को समझें कि हिंदुत्व शब्द का सम्बन्ध हिन्दू धर्म या हिन्दुओं से नहीं है। लेकिन षड्यंत्रकारी बदमाशी करते हैं। जैसे ही आप हिंदुत्व की राजनीति की पोल खोलना शुरू करते हैं यह लोग हल्ला मचाने लगते हैं कि तुम्हें सारी बुराइयां हिन्दुओं में दिखाई देती हैं? तुममें दम है तो मुसलमानों के खिलाफ़ लिख कर दिखाओ ! जबकि यह शोर बिलकुल फर्ज़ी है। जो हिंदुत्व की राजनीति को समझ रहा है, दूसरों को उसके बारे में समझा रहा है, वह हिन्दुओं का विरोध बिलकुल नहीं कर रहा है ना ही वह यह कह रहा है कि हिन्दू खराब होते है और मुसलमान ईसाई सिक्ख बौद्ध अच्छे होते हैं! हिंदुत्व एक राजनैतिक शब्द है ! हिं

कस्बा करनावल के नवनिर्वाचित चेयरमैन लोकेंद्र सिंह का किया गया सम्मान

सरधना में बाल रोग विशेषज्ञ डॉ महेश सोम के यहाँ हुआ अभिनन्दन समारोह  सरधना (मेरठ) सरधना में लश्कर गंज स्थित बाल रोग विशेषज्ञ डॉक्टर महेश सोम के नर्सिंग होम पर रविवार को कस्बा करनावल के नवनिर्वाचित चेयरमैन लोकेंद्र सिंह के सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। लोकेन्द्र सिंह के वह पहुँचते ही फूल मालाओं से जोरदार स्वागत किया गया। जिसके बाद पगड़ी व पटका  पहनाकर अभिनंदन किया गया। इस अवसर पर क़स्बा कर्णवाल के चेयरमैन लोकेंद्र सिंह ने कहा कि पिछले चार दसक से दो परिवारों के बीच ही चैयरमेनी चली आरही थी इस बार जिस उम्मीद के साथ कस्बा करनावल के लोगों ने उन्हें नगर की जिम्मेदारी सौंपी है उस पर वह पूरी इमानदारी के साथ खरा उतरने का प्रयास करेंगे। निष्पक्ष तरीके से पूरी ईमानदारी के साथ नगर का विकास करने में  कोई कसर बाकी नहीं छोड़ी जाएगी।   बाल रोग विशेषज्ञ डॉ महेश सोम,की अध्यक्षता में चले कार्यक्रम का संचालन शिक्षक दीपक शर्मा ने किया। इस दौरान एडवोकेट बांके पवार, पश्चिम उत्तर प्रदेश संयुक्त व्यापार मंडल के नगर अध्यक्ष वीरेंद्र चौधरी, एडवोकेट मलखान सैनी, भाजपा नगर मंडल प्रभारी राजीव जैन, सभासद संजय सोनी,

ज़मीनी विवाद में पत्रकार पर 10 लाख रंगदारी का झूठे मुकदमें के विरुद्ध एस एस पी से लगाई जाचं की गुहार

हम करेंगे समाधान" के लिए बरेली से रफी मंसूरी की रिपोर्ट बरेली :- यह कोई नया मामला नहीं है पत्रकारों पर आरोप लगना एक परपंरा सी बन चुकी है कभी राजनैतिक दबाव या पत्रकारों की आपस की खटास के चलते इस तरह के फर्जी मुकदमों मे पत्रकार दागदार और भेंट चढ़ते रहें हैं।  ताजा मामला   बरेली के  किला क्षेत्र के रहने वाले सलमान खान पत्रकार का है जो विभिन्न समाचार पत्रों से जुड़े हैं उन पर रंगदारी मांगने का मुक़दमा दर्ज कर दिया गया है। इस तरह के बिना जाचं करें फर्जी मुकदमों से तो साफ ज़ाहिर हो रहा है कि चौथा स्तंभ कहें जाने वाले पत्रकारों का वजूद बेबुनियाद और सिर्फ नाम का रह गया है यही वजह है भूमाफियाओं से अपनी ज़मीन बचाने के लिए एक पत्रकार व दो अन्य प्लाटों के मालिकों को दबाव में लेने के लिए फर्जी रगंदारी के मुकदमे मे फसांकर ज़मीन हड़पने का मामला बरेली के थाना बारादरी से सामने आया हैं बताते चले कि बरेली के  किला क्षेत्र के रहने वाले सलमान खान के मुताबिक उनका एक प्लाट थाना बारादरी क्षेत्र के रोहली टोला मे हैं उन्हीं के प्लाट के बराबर इमरान व नयाब खां उर्फ निम्मा का भी प्लाट हैं इसी प्लाट के बिल्कुल सामन